SC Full Form in Hindi | SC Full Form in Caste

इस पोस्ट में आपको एससी कास्ट के बारे में जानकारी प्राप्त होगी एससी क्या है, SC का फुल फॉर्म क्या होता है (SC full form in Hindi), एससी में कितनी और कौनसी जातियां आती हैं। एससी कास्ट के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए पोस्ट को अंत तक पूरा पढ़ें।

आपने एससी, एसटी और ओबीसी के बारे में जरूर सुना होगा क्योंकि इन 3 वर्गों को सरकार द्वारा आरक्षण दिया जाता है। आज हम इनमें से एससी वर्ग की संपूर्ण जानकारी आपको प्रदान करने वाले हैं लेकिन इससे पहले यह जानना जरूरी है कि एससी फुल फॉर्म इन हिंदी (SC Full Form in Hindi) क्या है।

क्या आप जानते हैं कि एससी का फुल फॉर्म (SC Ka Full Form) क्या होता है। यदि नहीं तो यह आर्टिकल सिर्फ आपके लिए है, यहां हम एससी फुल फॉर्म इन हिंदी (SC Full Form in Caste) के बारे में तो आपको बताएंगे ही साथ ही यह भी बताएंगे कि एससी क्या है और इसके अंतर्गत कौन-कौन सी जातियां शामिल की जाती है।

अगर आप एससी वर्ग के अंतर्गत आते हैं तो आप यह जानते होंगे कि इसके अंतर्गत आने वाले लोगों को सरकार द्वारा कितने लाभ प्रदान किए जाते हैं लेकिन यदि अभी भी आपको इस वर्ग की जानकारी नहीं है तो इस पोस्ट को आखिर तक जरूर पढ़ें।

चलिए सबसे पहले हम आपको यह बताते हैं कि एससी फुल फॉर्म इन हिंदी क्या है।

SC Full Form in Hindi (SC Meaning in Hindi)

SC full form in Hindi

यदि आप एससी (SC) वर्ग के अंतर्गत आते हैं तो आप जानते होंगे कि एससी का फुल फॉर्म शेड्यूल्ड कास्ट (Scheduled Castes) होता है, जिन्हें अनुसूचित जाति कहा जाता है।

S: Scheduled

C: Castes

अब इस वर्ग का फुल फॉर्म तो समझ आ जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि एससी क्या है और इसके अंतर्गत किन लोगों को शामिल किया जाता है।

इसकी जानकारी होना अत्यंत आवश्यक है क्योंकि जब तक आप अपने समाज में फैली हुई वर्गों की असमानता को नहीं समझेंगे तब तक इनके बीच समानता स्थापित करना संभव नहीं है तो आइए जानते हैं कि एससी क्या है।

SC क्या है?

जैसा कि आप जानते हैं कि हमारे देश में अलग-अलग जातियों के लोग रहते हैं और हर राज्य में कई प्रकार की जातियां पाई जाती है। इनमें से कुछ जातियां क्षेत्रीय भी होती है अर्थात ऐसी जातियां होती है जो दूसरे राज्यों में नहीं होती, इससे यह समझा जा सकता है कि हमारे देश में नागरिकों को वर्गों के आधार पर बांटा गया है जिनमें से एससी (S) भी एक वर्ग है।

एससी (SC) वर्ग को हमारे संविधान में स्थान दिया गया है। अब आप सोच रहे होंगे कि एससी क्या है तो हम आपको बता दें कि एससी का पूरा नाम शेड्यूल्ड कास्ट (Scheduled Caste) होता है जिसे अनुसूचित जाति कहा जाता है, और इस वर्ग के अंतर्गत उन लोगों को शामिल किया जाता है जो आर्थिक रूप से कमजोर और पिछड़े हुए होते हैं।

इसके अलावा सामाजिक रूप से पिछड़े हुए लोग भी इसी जाति के अंतर्गत आते हैं। संविधान में इन्हें स्थान मिलने से पहले इनके साथ अत्यधिक भेदभाव का व्यवहार किया जाता था तथा निचले स्तर का समझा जाता था।

इस भेदभाव के कारण ना तो इन्हें आगे बढ़ने का अवसर प्रदान होता था और ना ही अन्य वर्गों की तरह इसे मान्यता प्राप्त थी। इस वर्ग के अंतर्गत वे लोग शामिल किए गए हैं जो अछूत समझे जाते थे जैसे कि कपड़े धोने वाले, मैला ढोने वाले, मछली पकड़ने वाले और नालिया साफ करने वाले आदि।

इन जाति के लोगों को अन्य ऊंची जाति के लोगों को छूने की अनुमति भी नहीं दी जाती थी और इन जातियों के लोगों को काफी ज्यादा प्रताड़ित भी किया जाता था। लेकिन जब से संविधान में एसीसी (SC) वर्ग के लोगों को स्थान प्राप्त हुआ है तब से उनकी स्थिति काफी ज्यादा बेहतर हो चली है।

इन जाति के लोगों को दलित भी कहा जाता है और इनके लिए सरकार द्वारा समय-समय पर कोई ना कोई योजनाएं लागू की जाती है ताकि इन्हें आगे बढ़ने का समान अवसर प्राप्त हो सके।

इसके अलावा एससी वर्ग में शामिल किए गए जाति के लोगों को सरकार द्वारा दिए गए लाभों में सबसे बड़ा लाभ यह है कि इस वर्ग के लोगों को 15% सीट आरक्षित की जाती है। रोजगार, सरकारी नौकरी और प्रशिक्षण संस्थान में इनके लिए पहले से ही 15% सीट आरक्षित है जिससे इन्हें आगे बढ़ने का अवसर प्राप्त होता है। 

इन निचले स्तर के लोगों को कई नौकरियों के अंतर्गत आयु सीमा में भी छूट दी जाती है अर्थात जहां अन्य वर्ग के लोगों के लिए आयु सीमा निश्चित होती है वही एससी वर्ग के अंतर्गत आने वाले कैंडिडेट के लिए आयु सीमा में कुछ छूट प्रदान की जाती है।

अब आप समझ गए होंगे कि एससी क्या है लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसके अंतर्गत कितनी जातियां आती है? और कौन-कौन सी जाति आती हैं? तो चलिए इसकी जानकारी भी अगले सेक्शन में हम आपको देते हैं।

SC में कौनसी और कितनी जाती आती है?

जैसा कि आपको ज्ञात है कि हर राज्य में अलग-अलग प्रकार की जातियां पाई जाती हैं जिनमें से कुछ क्षेत्रीय होती हैं जो दूसरे राज्य में नहीं पाई जाती इसलिए इन जातियों को राज्यों के नियमानुसार ही अलग-अलग वर्गों में शामिल किया जाता है। एससी वर्ग के अंतर्गत आने वाले जातियां दलित होती है अर्थात पिछड़े वर्ग की होती हैं इसलिए हर राज्य के अलग-अलग नियम होते हैं जिससे यह ज्ञात किया जाता है कि कौन सी जाति किस वर्ग में शामिल की जाएगी।

एससी वर्ग के लोगों को ज्यादातर अस्पृश्यता का सामना करना पड़ता था जिसे देखते हुए भारतीय संविधान द्वारा उनकी स्थिति को बेहतर बनाने के लिए उन्हें एक अलग से स्थान दिया गया है। इस वर्ग के अंतर्गत राज्यवार जातियों की सूची तैयार भी की गई है जो आप इनकी ऑफिशल वेबसाइट में जाकर देख सकते हैं।

यहां हम आपके लिए एससी वर्ग में शामिल अनुसूचित जातियों की सूची देखने के लिए एक लिंक प्रदान कर रहे हैं जिसपर विजिट करके आप अपने राज्य के अनुसार अनुसूचित जातियों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, यह लिंक कुछ इस प्रकार है – scheduled castes

इस प्रकार आप समझ सकते हैं कि अनुसूचित जाति में शामिल जाति के लोगों को पहले किस प्रकार असमानता का सामना करना पड़ता था और अब हालात बदलने की स्थिति में उनकी स्थिति कैसे बदल चुकी है।

SC के अन्य फुल फॉर्म

SC full form in ComputerService Controller
SC full form in Education/LawScheduled Caste
SC full form in MedicalSpinal Cord 
SC full form in ChemistryScandium
SC full form in Instagram/ChatSnapchat
SC full form in ArmyScreen Commander

SC से जुड़े सवाल जवाब (FAQS)

एससी कास्ट का मतलब क्या होता है?

एससी कास्ट का मतलब Scheduled Castes होता है, जिसे हिंदी भाषा में अनुसूचित जाति कहा जाता है। इस वर्ग के अंतर्गत वह लोग आते हैं जो आर्थिक रूप से कमजोर और पिछड़े हुए होते हैं।

SC ST और OBC का अर्थ क्या है

SC – Scheduled Castes, ST – Schedule Tribes, और OBC – Other Backward Classes होता है।

निष्कर्ष – SC Ka Full Form

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने एससी क्या है, SC ka full form क्या होता है (SC full form in Hindi), SC caste में कौनसी और कितनी जातियां आती हैं इसकी पूरी जानकारी दी है। अगर आपका कोई सवाल है तो आप कमेन्ट बॉक्स में पूछ सकते हैं, हम जल्द ही आपके कमेंट का रिप्लाई करेंगे।

पोस्ट से हेल्प मिली तो बाकी लोगो के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करके उन्हें भी इसकी जानकारी दें।

अन्य पढ़ें:-

Leave a Comment

Share via
Copy link