POV Full Form in Hindi | POV Full Form in Social Media

POV क्या है? पीओवी फुल फॉर्म इन हिंदी क्या होता है? (POV Full Form in Hindi) POV का इस्तेमाल क्यों किया जाता है? से जुड़े सवालों के जवाब यहां हम आपको देने वाले हैं, इसलिए इस पोस्ट को आखिर तक जरूर पढ़ें ताकि आपको भी POV से संबंधित सारी जानकारियां समझ आ जाए।

आपने अक्सर सोशल मीडिया पर पीओवी (POV) का इस्तेमाल करते हुए लोगों को जरूर देखा होगा लेकिन क्या आपने कभी सोचा कि POV आखिर होता क्या है और यह क्यों इस्तेमाल किया जाता है?

यदि नहीं तो आपको यह बात जाननी चाहिए क्योंकि सोशल मीडिया का इस्तेमाल आज हर व्यक्ति कर रहा है इसलिए इससे जुड़े हर तथ्य को समझना जरूरी है। इससे संबंधित जानकारियों के विषय में बताने से पहले हम आपको बताते हैं कि पीओवी (POV) का फुल फॉर्म क्या होता है। 

POV Full Form in Hindi (POV का फुल फॉर्म क्या है?)

POV full form in Hindi

वैसे तो पीओवी के बहुत सारे फुल फॉर्म आपको देखने को मिल जाएंगे लेकिन यहां हम जिस पीओवी की बात कर रहे हैं वह सोशल मीडिया से रिलेटेड है।

POV का फुल फॉर्म Point of View होता है जिसे हिंदी मे पॉइंट ऑफ व्यू कहते है और इसका अर्थ दृष्टिकोण या नज़रिया होता है। लेकिन यह भी जरूरी है कि आपको हर क्षेत्र में POV का फुल फॉर्म पता हो इसलिए आइये एक-एक करके जानते हैं कि हर क्षेत्र में भी POV का क्या मतलब होता है।

POV in Science and Technology

POV – Persistence Of Vision

POV in Computer

POV – Pyramid of vision

POV in Social Media

POV – Point Of view

तो देखा आपने पीओपी के कितने सारे फुल फॉर्म मौजूद है। लेकिन हमारा आज का विषय है पीओवी इन सोशल मीडिया अर्थात यहां हम पॉइंट ऑफ व्यू के बारे में आपको बताएंगे।

आइए जानते हैं कि सोशल मीडिया में पीओवी (POV) का क्या रोल होता है।

POV क्या होता है? (POV in Social Media)

पीओवी (POV) अर्थात पॉइंट ऑफ व्यू जिसका हिंदी अर्थ दृष्टिकोण होता है, का उपयोग सोशल मीडिया में ज्यादातर किया जाता है। लेकिन आखिर यह होता क्या है इसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं।

अगर हम आपको सीधे शब्दों में समझाएं तो POV एक लेबल के रूप में कार्य करता है जो यह बताता है कि कोई भी कंटेंट किसके द्वारा बनाया गया है पर यह ज्यादातर इंस्टाग्राम प्लेटफार्म पर इस्तेमाल किया जाता है जो ज्यादातर वीडियोस या रील्स् बनाने में उपयोग में आता है।

इंस्टाग्राम पर पॉइंट ऑफ व्यू का मतलब यह होता है कि किसी भी वीडियो को जो पर्सन बना रहा है उसका अपना एक दृष्टिकोण है और इस वीडियो को देखने वाले दर्शक का अपना एक अलग दृष्टिकोण होता है अर्थात जो भी इस वीडियो या रील्स को देख रहा है वह अपने दृष्टिकोण को यहां पर लागू करता है।

इसके अंतर्गत मुख्य रूप से तीन बिंदुओं को शामिल किया जाता है फर्स्ट पर्सन, सेकंड पर्सन और थर्ड पर्सन।

फर्स्ट पर्सन वह होता है जो कोई कंटेंट तैयार करता है जिसका अपना दृष्टिकोण होता है, सेकंड पर्सन वह होता है जो उस कंटेंट के बारे में बताता है और थर्ड पर्सन वह होता है जो पूरे कंटेंट को अपने दृष्टिकोण में बताता है।

यहाँ कहने का मतलब यह है कि सबका पॉइंट ऑफ व्यू अलग-अलग होता है। जैसा कि हमने आपको बताया कि इसका इस्तेमाल ज्यादातर इंस्टाग्राम में किया जाता है क्योंकि यहां पर रील्स् और वीडियोस ज्यादातर बनाए जाते हैं लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।

आप अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे कि फेसबुक आदि पर भी POV का इस्तेमाल कर सकते हैं, जो सबकी अपनी-अपनी दृष्टिकोण को दर्शाने का कार्य करता है। आइए इसे और विस्तार से जानने के लिए यह समझते हैं कि पीओवी का इस्तेमाल क्यों किया जाता है।

POV का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

आपने अक्सर देखा होगा कि किसी भी कहानी को फर्स्ट पर्सन या थर्ड पर्सन के रूप में लिखा जाता है जिसमें पॉइंट ऑफ व्यू बहुत बड़ा रोल प्ले करता है।

उदाहरण के तौर पर समझे तो फर्स्ट पर्सन “मैं” या “हम” का इस्तेमाल कहानी को बताने के लिए करता है मतलब अपने पॉइंट ऑफ व्यू को दर्शाने के लिए करता है।

वही थर्ड पर्सन अपने पॉइंट ऑफ व्यू में उस कहानी को बताने के लिए “वह” का उपयोग करता है। अब आप इसे क्लीयरली समझ गए होंगे इस पॉइंट ऑफ व्यू का इस्तेमाल क्यों किया जाता है।

अगर हम बात करें सोशल मीडिया में पीओवी के इस्तेमाल की तो जब कोई पर्सन एक वीडियो या कंटेंट अपने पॉइंट ऑफ व्यू में तैयार करके अपलोड करता है तो वह यह कहना चाहता है कि दर्शक उसे अपने पॉइंट ऑफ व्यू के अनुसार देखें और समझे कि उस वीडियो या रील्स मे क्या बताया जा रहा है।

मतलब आप ये कह सकते हैं कि किसी भी क्षेत्र में POV अर्थात पॉइंट ऑफ व्यू का इस्तेमाल अगर किया जा रहा है तो वह इसलिए किया जा रहा है ताकि सामने वाला व्यक्ति अपने पॉइंट ऑफ व्यू के जरिए उस पूरे कंटेंट या वीडियो को समझ सके।

POV Full Form in Social Media

जैसा कि हमने आपको ऊपर ही बता दिया है कि सोशल मीडिया में पीओवी (POV) का फुल फॉर्म पॉइंट ऑफ व्यू (Point of view) होता है और यह केवल इंस्टाग्राम में ही नहीं बल्कि अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स जैसे कि फेसबुक और मीम्स आदि पर भी इसका यही मतलब होता है।

अक्सर वीडियो के नीचे पीओवी (POV) कैप्शन में लिखे जाते हैं ताकि उसे देखने वाले दर्शक अपने पॉइंट ऑफ यू के जरिए वीडियो को अच्छी तरह समझ सके।

सोशल मीडिया पर लोग ज़्यादा सक्रिय होते है जहां से अक्सर विडीओ वायरल होते है इस वजह से इन वीडियोस को बनाने वाले ऑन विडीओ कैप्शन का इस्तेमाल करके ही POV को समझाना चाहते है। उम्मीद है अब आप POV का मतलब समझ गए होंगे और यहां बताई गई सारी जानकारी आपको पसंद आई होगी।

यदि आप इसी तरह के नए रोचक जानकारियों से वाकिफ होना चाहते हैं तो हमारी वेबसाइट से लगातार जुड़े रहे क्योंकि हम इसी तरह आपके लिए नहीं रोचक जानकारियां लेकर प्रस्तुत होते रहेंगे।

POV से जुड़े सवाल जवाब (FAQS)

POV का मतलब क्या होता है?

POV का मतलब Point of View होता है, हिंदी में इसका अर्थ है दृष्टिकोण या नज़रिया।

इंस्टाग्राम पर पीओवी का क्या मतलब है?

इंस्टाग्राम पर पीओवी का मतलब Point of View होता है, जो की आजकल रील्स में बहुत ज्यादा उपयोग किया जा रहा है। जिस भी रील को आप देखते हैं अगर उसमे POV का उपयोग किया गया है तो इसका मतलब है की वो रील बनाने वाले व्यक्ति का पॉइंट ऑफ़ व्यू है उस रील को आप अपने नज़रिये से देखें या फिर उपयोग करें।

निष्कर्ष – POV Ka Full Form

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने आपको POV full form in Hindi, POV ka full form क्या है, POV full form in Instagram, POV full form in Social Media क्या होता है इसकी सम्पूर्ण जानकारी शेयर की है।

पोस्ट से जुड़ा आपका कोई सवाल है या फिर आप कुछ पूछना चाहते है तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हम आपके सवाल का जवाब देने की कोशिश जल्द से जल्द करेंगे। अगर इस पोस्ट से आपको मदद मिली तो सोशल मीडिया पर शेयर करके बाकी लोगो को भी POV का मतलब समझने में मदद करें।

अन्य पढ़ें

Leave a Comment

Share via
Copy link