PHD Ka Full Form क्या होता है? | PHD Full Form in Hindi

दोस्तों, आज की पोस्ट में हम आपको PHD ka full form क्या होता है, PHD full form in Hindi क्या है PHD Course कैसे और कहाँ से करें, PHD course Fees क्या है इसकी सम्पूर्ण जानकारी देने वाले हैं पोस्ट को अंत तक ध्यान से पढ़ें।

आज की दुनिया में कौन अच्छी नौकरी नहीं चाहता। हर किसी को आगे बढ़ने की होड़ लगी हुई है लेकिन अच्छी नौकरी या सफलता के लिए एक अच्छा कोर्स करना काफी जरूरी माना जाता है क्योंकि शिक्षा के जरिए ही एक इंसान सफल व्यक्ति बनता है।

लेकिन आज शिक्षा इतनी आगे बढ़ चुकी है कि यहां आपको कोई एक नहीं बल्कि हजारों तरह के कोर्स मिल जाएंगे जिनको करके आप अच्छी खासी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं और आज हम एक ऐसे ही कोर्स के बारे में बात करने वाले हैं जो बहुत ही ज्यादा पॉपुलर है और वह है – पीएचडी(PHD)।

पीएचडी क्या है? पीएचडी का फुल फॉर्म क्या है? पीएचडी के अंतर्गत कौन- कौन से कोर्स मिलते हैं? इन सबकी जानकारी आज हम आपको देने वाले तो आइए शुरू करते है।

Contents

PHD Ka Full Form in Hindi (पीएचडी का फुल फॉर्म क्या है?)

पीएचडी का नाम सुनकर सबसे पहले हमारे मन में जो सवाल उठता है वह यह है कि पीएचडी का फुल फॉर्म क्या है और अगर आप पीएचडी कर रहे हैं तो आपको यह जानकारी होनी ही चाहिए। PHD एक बहुत ही पॉपुलर कोर्स है जिसका फुल फॉर्म होता है – Doctor Of Philosophy.

PHD full form in English – Doctor Of Philosophy

PHD Full Form in Hindi

अगर हम बात करें पीएचडी को हिंदी में क्या कहते हैं? तो आइए इस सवाल का जवाब भी हम आपको बताते हैं, पीएचडी को हिंदी में डॉक्टर ऑफ फिलोसॉफी (विद्या चिकित्सक) कहते है।

PHD full form in Hindi – डॉक्टर ऑफ फिलोसॉफी (विद्या चिकित्सक)

PHD क्या है? (What is PHD in Hindi)

पीएचडी एक स्नातक कोर्स है जिसे करने के बाद आप एक अच्छी जॉब पा सकते हैं। आपने अक्सर देखा होगा कि कई लोग ऐसे होते हैं जो डॉक्टर नहीं होते लेकिन फिर भी उनके नाम के आगे डॉक्टर लगा होता है। ये इसलिए होता है क्योंकि उन्होंने पीएचडी कोर्स किया होता है। आप यह समझ सकते हैं कि पीएचडी एक डॉक्टरल डिग्री है जिसे करना काफी मुश्किल होता है और अगर आपको पीएचडी कोर्स करना है तो इसमें आप सीधे एडमिशन नहीं ले सकते क्योंकि पहले आपको मास्टर की डिग्री प्राप्त करनी पड़ती है, उसके बाद ही आप इस कोर्स को करने के लिए अप्लाई कर पाएंगे।

PHD कितने वर्ष का कोर्स होता है? (PHD Course Duration)

अगर आप इस सवाल का जवाब ढूंढते हुए यहाँ आए है कि पीएचडी का कोर्स कितने साल का होता है तो हम आपको बता दें कि पीएचडी का कोर्स 3 साल का होता है। यह एक स्नातक कोर्स है जिसे अगर आपने पूरा कर लिया तो आपके नाम के आगे डॉक्टर की उपाधि जुड़ जाती है। जैसा कि हमने आपको बताया है कि इसे करना कोई आसान काम नहीं है। इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ती है जिसके लिए आपको अपनी रूचि के अनुसार एक सब्जेक्ट का चुनाव करना पड़ता है। यहाँ एक लाभ यह होता है कि अगर आप 3 साल मे ये कोर्स ना कर पाये तो इसे 6 साल मे भी पूरा किया जा सकता है।

PHD कोर्स की फीस? (PHD Course Fee)

पीएचडी कोर्स करने के बारे में जब आप सोचते हैं तो मन में यह सवाल भी जरूर उठता है कि पीएचडी कोर्स की फीस कितनी होगी।

ये तो आप जानते ही हैं कि हर कोर्स की फीस कॉलेज और विश्वविद्यालय के लिए अलग-अलग निर्धारित होती है। इसी तरह हर कॉलेज और विश्वविद्यालय की जो पीएचडी कोर्स होती है उसकी फीस भी अलग-अलग होती है और यह पूरी तरह संबंधित कॉलेज या विश्वविद्यालय पर निर्भर करती है।

लेकिन अगर हम एवरेज में पीएचडी फीस का अंदाजा लगाएं तो 30 से 40 हज़ार रुपये इस कोर्स में प्रतिवर्ष खर्च हो सकते हैं। साथ ही यह बात जानना बेहद जरूरी है कि यह कोर्स सेमेस्टर में होता है जिसमें प्रैक्टिकल और थ्योरी दोनों तरह के ही एग्जाम आपको देने पड़ते हैं।

कॉलेज की फीस वहां मिलने वाली फैसिलिटी पर भी निर्भर करती है जहां ज्यादा फैसिलिटी उपलब्ध होती है वहां की फीस भी थोड़ी ज्यादा होती है।

PHD कैसे करें?

अगर आपने शुरुआत से ही तय कर लिया है कि आपको आगे चलकर पीएचडी करनी है तो इस बात का ज्ञान तो आपको होगा ही कि हर 1 डिग्री के लिए 12th पास होना बहुत जरूरी है। पीएचडी करने के लिए आपको 10th के बाद वही सब्जेक्ट चुनना पड़ता है जिसमें आप आगे पीएचडी करना चाहते हैं इसके लिए 10th और 12th दोनों ही कक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन करना जरूरी है ताकि आप अच्छे अंको से पास हो सके।

जब आप अपनी हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी कर लेते हैं तो आपको एक ऐसे सब्जेक्ट का चुनाव करना पड़ता है जिसमें आपको सबसे ज्यादा रुचि हो ताकि आप उसमें प्रवेश परीक्षा दे सकें और एंट्रेंस एग्जाम को पूरा करके स्नातक की पढ़ाई पूरी कर सके, यहां भी आपको अच्छे अंको से पास होना जरूरी है।

स्नातक की पढ़ाई पूरी होने के बाद आपको पोस्ट ग्रेजुएशन करना होता है आपने जिस भी सब्जेक्ट में स्नातक की डिग्री हासिल की है आपको उसी सब्जेक्ट में मास्टर की डिग्री हासिल करनी पड़ेगी।

स्नातक और मास्टर डिग्री में कम से कम 60% अंक प्राप्त करना जरूरी है तभी आप एंट्रेंस एग्जाम के लिए पूरी तैयारी कर पाएंगे और जब आपकी पोस्ट ग्रेजुएशन कंप्लीट हो जाती है तो आपको एक यूजीसी नेट टेस्ट देना होता है जो कि पीएचडी कोर्स के लिए क्लियर करना बहुत जरूरी है।

जब आप यह सारे एग्जाम क्लियर कर देते हैं तो आप पीएचडी करने के लिए बिल्कुल तैयार है फिर इसके बाद आप जिस भी कॉलेज या फिर विश्वविद्यालय में चाहे वहां पीएचडी के लिए एडमिशन ले सकते हैं। 

लेकिन वहां एडमिशन के लिए भी आपको एक एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना पड़ता है इसे क्लियर करने के बाद आसानी से आपका एडमिशन हो जाता है।

PHD के लिये मांगी जानें वाली योग्यता (Eligibility for PHD in Hindi)

जैसा कि आप जान चुके हैं कि पीएचडी करना आसान नहीं है इसके लिए कड़ी मेहनत तो करनी ही पड़ती है लेकिन साथ ही इस कोर्स को करने के लिए आपको इसकी योग्यता पर भी खरा उतरना पड़ता है। पीएचडी कोर्स करने के लिए आपके पास निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए:-

  1. आपके पास पीएचडी करने के लिए मास्टर की डिग्री होना जरूरी है।
  2. आपके पास स्नातक की डिग्री होना जरूरी है।
  3. मास्टर की डिग्री में 55% से 60% अंक के साथ आपको उत्तीर्ण होना होगा।
  4. पीएचडी कोर्स के लिए आपको एक प्रवेश परीक्षा देनी होगी जिसे अच्छे अंको से प्राप्त करना बेहद जरूरी है।

PHD की तैयारी कैसे करें?

पीएचडी के बारे में सारी जानकारी तो आपको यहां तक मिल ही गई है लेकिन अब बात आती है कि पीएचडी की तैयारी कैसे की जा सकती है ताकि अच्छे परिणाम हासिल किए जा सके।

पीएचडी की तैयारी करने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है जो पीएचडी करने में आपकी मदद करेगी और इसको थोड़ा आसान भी बना देंगी।

  1.  जब आप पीएचडी की तैयारी करते हैं तो आप यह कार्य कर सकते हैं कि आप पहले के पेपर खरीद कर उन पेपर के सवालों को अच्छी तरह से समझ कर उसकी तैयारी करें। जिससे आपको पीएचडी एग्जाम के पैटर्न के बारे में पता चल जाएगा जिसमें आप यह समझ सकते हैं कि किस तरह के सवाल यहां पूछे जाते हैं।
  2. इसके अलावा आप अपने सीनियर से अर्थात जो पहले पीएचडी कर चुके हैं उनसे संपर्क कर सकते हैं और उनसे कोचिंग भी ले सकते हैं क्योंकि उन्हें पीएचडी का अनुभव होता है तो वह आपकी सहायता जरूर कर सकेंगे।
  3. आप जिस भी सब्जेक्ट में पीएचडी कर रहे हैं या करना चाहते हैं उसकी सारी बेसिक नॉलेज आपके पास होनी चाहिए, इसलिए जब भी आपको थोड़ा समय मिले आपको अपने सब्जेक्ट से रिलेटेड चीजें पढ़ते रहना चाहिए।
  4. साथ ही पीएचडी के हर विषय के बारे में जानने की कोशिश करते रहे ताकि आपकी नॉलेज और बढ़ सके।

PHD का कोर्स किस विषय से करें?

पीएचडी एक ऐसा कोर्स है जिसके अंदर आपको बहुत सारे सब्जेक्ट मिल जाएंगे जैसे कि भौतिकी, इंजीनियरिंग, गणित, अर्थ शास्त्र, मनोविज्ञान, हिंदी, अंग्रेजी, होम साइंस, एग्रीकल्चर, इतिहास, फाइन आर्ट, सर्जरी, जियोग्राफी, जियोलॉजी, अकाउंटिंग, बायोकेमेस्ट्री, फार्मेसी आदि।

लेकिन इन सभी सब्जेक्ट को देखकर लोग अक्सर कंफ्यूज हो जाते हैं कि उन्हें किस सब्जेक्ट में पीएचडी करना चाहिए और किस सब्जेक्ट को करने से उन्हें ज्यादा से ज्यादा फायदा मिलेगा।

हालांकि कुछ पॉपुलर कोर्स पीएचडी के अंतर्गत मिलते हैं जैसे कि पीएचडी इन फिजिक्स, पीएचडी इन इंजीनियरिंग, पीएचडी इन मैथमेटिक्स, पीएचडी इन फाइनेंस एंड इकोनॉमिक्स, पीएचडी इन साइकोलॉजी, पीएचडी इन मैनेजमेंट इत्यादि।

यह सारे ही कोर्स बहुत ज्यादा पॉपुलर है और इन courses को सबसे ज्यादा महत्व दिया जाता है। अगर हम बात करें कि सबसे आसान कोर्स पीएचडी के अंदर क्या है तो वह है इकोनॉमिक्स।

इकोनॉमिक्स सब्जेक्ट से पीएचडी करना बहुत ही आसान माना जाता है हालांकि पीएचडी करना इतना आसान नहीं है लेकिन बाकी सारे सब्जेक्ट में इकोनॉमिक्स थोड़ा सरल होता है।

इस सब्जेक्ट के अंतर्गत बैंकों से संबंधित पढ़ाई की जाती है और अगर आप इस कोर्स को करते हैं तो आप बैंक में अच्छी खासी नौकरी पा सकते हैं। साथ ही फाइनेंशियल कंपनी में भी नौकरी पाने के चांसेस बढ़ जाते हैं।

वहीं अगर आप हिस्ट्री सब्जेक्ट में पीएचडी करते हैं तो आपको यह फायदा मिलता है कि आप प्राइवेट और सरकारी दोनों तरह के जॉब कर सकते हैं। प्राइवेट कंपनी में आपको टीचिंग, इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन, सोसायटी आर्काइव्स, म्यूजियम, लाइब्रेरी, क्यूरेटर जैसी जॉब ऑफर हो सकती है। हिस्ट्री सब्जेक्ट वालों के लिए समय-समय पर नई नई जॉब वैकेंसी निकलती रहती है इसलिए इस सब्जेक्ट में पीएचडी करने के बाद भी आपको जॉब की कमी नहीं होगी।

पीएचडी कोर्स करने के लिए बेस्ट कॉलेज (PHD Best Colleges)

पीएचडी के बारे में सारी जानकारी प्राप्त करने के बाद जो सबसे महत्वपूर्ण सवाल बचता है वह यह है कि पीएचडी कोर्स करने के लिए सबसे बेस्ट कॉलेज कौन से हैं?

तो आइए हम आपको टॉप यूनिवर्सिटीज के बारे में बताते हैं जहां से आप पीएचडी कोर्स कर सकते हैं:-

  • AIIMS Delhi – All India Institute Of Medical Science New
  • IGNOU Delhi – Indira Gandhi National Open University
  • IIT Bombay – Indian Institute Of Technology
  • MSU Baroda – Maharaja Sayajirao University Of Bombay
  • Christ University, Bangalore
  • Jadavpur University, Kolkata
  • LPU Jalandhar – Lovely Professional University
  • IIT Madras
  • DU Delhi – University Of Delhi

इनके अलावा भी बहुत सारी यूनिवर्सिटी है जहां पर आप अपने बजट के हिसाब से पीएचडी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

पीएचडी कोर्स में प्रवेश लेने पर मांगे जाने वाले डॉक्यूमेंट?

पीएचडी कोर्स के लिए कुछ जरूरी डॉक्युमेंट्स रिक्वायर्ड होते हैं जो कुछ इस प्रकार से है- 

  1. 10th और 12th का मार्कशीट
  2. यूजी एंड पीजी डिग्री मार्कशीट
  3. पीजी डिग्री सर्टिफिकेट और प्रोविजनल डिग्री सर्टिफिकेट
  4. एंट्रेंस टेस्ट स्कोरकार्ड
  5. वर्क एक्सपीरियंस लेटर
  6. आधार कार्ड
  7. पैन कार्ड
  8. ड्राइविंग लाइसेंस या पासपोर्ट
PHD कोर्स करने के फायदे? (Advantages of PHD Course)

पीएचडी कोर्स करने के बाद आपको कई तरह के फायदे मिलने लगेंगे। 

  • अगर आप पीएचडी क्लियर कर देते हैं तो आपके नाम के आगे डॉक्टर की उपाधि तो जुड़ ही जाएगी साथ ही आप एक प्रतिष्ठित व्यक्ति कहलाएंगे।
  • पीएचडी कोर्स करने के बाद आप अपने फील्ड में एक्सपर्ट बन कर कार्य कर सकते हैं।
  • पीएचडी कोर्स क्लियर करने के बाद किसी भी कॉलेज विश्वविद्यालय में प्रोफेसर पद प्राप्त किया जा सकता है और आसानी से नौकरी मिलने की संभावना होती है।
  • पीएचडी करने के बाद आप रिसर्च और एनालिसिस करके अपने फील्ड के किसी भी जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
PHD Course से जुड़े सवाल जवाब FAQs
पीएचडी का कोर्स कितने साल का होता है? 

पीएचडी का कोर्स 3 साल का होता है।

पीएचडी में कौन-कौन से विषय होते हैं? 

पीएचडी एक ऐसा है कोर्स जिसके अंदर आपको बहुत सारे सब्जेक्ट मिल जाएंगे जैसे कि अकाउंटिंग, बायोकेमेस्ट्री, फार्मेसी, भौतिकी, इंजीनियरिंग, गणित, अर्थ शास्त्र, मनोविज्ञान, हिंदी, अंग्रेजी, होम साइंस, एग्रीकल्चर, इतिहास, फाइन आर्ट, सर्जरी, जियोग्राफी, जियोलॉजी आदि।

पीएचडी का फुल फॉर्म क्या है? 

पीएचडी का फुल फॉर्म डॉक्टर ऑफ फिलोसॉफी होता है।

पीएचडी करने से कौन-कौन सी नौकरी मिल सकती है? 

पीएचडी करने से आप अपने सब्जेक्ट से रिलेटेड किसी भी फील्ड में जॉब प्राप्त कर सकते हैं चाहे वह प्राइवेट हो या सरकारी पीएचडी करने के बाद सरकारी और प्राइवेट कंपनियां आपको जॉब ऑफर कर सकती है जैसे कि अगर आप इकोनामिक की पढ़ाई करते हैं तो आप आसानी से बैंक में नौकरी कर सकते हैं।

पीएचडी करने के लिए कितनी फीस लगती है?

पीएचडी करने के लिए हर एक कॉलेज और विश्वविद्यालय की फीस अलग-अलग होती है लेकिन अगर एक औसतन अंदाजा लगाया जाए तो प्रतिवर्ष 30 से लेकर 40 हज़ार रुपये पीएचडी करने में खर्च हो सकते हैं।

निष्कर्ष – PHD Ka Full Form क्या है?

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने आपको PHD ka full form क्या है, What is PHD full form in Hindi, PHD course fees, PHD course duration इसकी पूरी जानकारी दी है। अगर आपका कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करके दुसरे लोगो को PHD कोर्स की सही जानकारी जरुर दें।

अन्य पढ़ें:-

Leave a Comment

Share via
Copy link