PHC Ka Full Form in Hindi | PHC का फुल फॉर्म क्या है?

PHC क्या है? PHC का मतलब क्या है? PHC Ka Full Form क्या है? PHC Ka Full Form In Hindi And English क्या है? जैसे कई सवाल आपके मन मे आ रहे होंगे और आज हम इन सवालो के जवाब इस पोस्ट के माध्यम से देने वाले हैं।

हमारे देश में स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए PHC का गठन किया गया है। क्या आप जानते है कि PHC क्या है?

PHC संस्था का गठन बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य के लिए किया गया है इसलिए इसकी सम्पूर्ण जानकारी बहुत ही आवश्यक है।

ऐसे बहुत सारे लोग हैं जिन्हें यह नहीं पता कि पीएचसी (PHC) किस तरह के कार्य करती है या इसका फुल फॉर्म क्या होता है इसलिए वे इसका फायदा भी नहीं उठा पाते। इसलिए यदि आप चाहते हैं कि पीएचसी के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर लें तो आपको इस पोस्ट को आखिर तक पढ़ना होगा। 

चलिए सबसे पहले आपको यह बताते हैं कि पीएचसी का फुल फॉर्म क्या होता है जहां आप जानेंगे पीएचसी का फुल फॉर्म इन हिंदी एंड इंग्लिश (PHC Ka Full Form In Hindi And English) क्या है, तो इस पोस्ट के साथ आखिर तक जरूर बने रहे।

PHC Ka Full Form क्या है? (PHC Full Form in Hindi & English)

PHC ka full form

यदि आपने पीएचसी के बारे में पहले कभी सुना है तो आपने इसके बारे में सर्च करके जरूर देखा होगा, यदि आपको नहीं पता कि पीएचसी क्या है तो चलिए इसके बारे में जानने का प्रयत्न करते हैं और शुरुआत करते हैं इसके फुल फॉर्म से।

पीएचसी (PHC) का फुल फॉर्म प्राइमरी हेल्थ सेंटर (Primary Health Center) होता है जिसके डिटेल कुछ इस प्रकार है:-

P: Primary 

H: Health 

C: Center

यह था पीएचसी फुल फॉर्म इन इंग्लिश लेकिन बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो यह जानना चाहते हैं कि पीएसी फुल फॉर्म इन हिंदी क्या है तो चले इसकी जानकारी भी हम आपको उपलब्ध कराते हैं।

पीएचसी का हिंदी फुल फॉर्म प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र होता है जिसे सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्र भी कहा जाता है।

P: प्राथमिक

H: स्वास्थ्य

C: केंद्र

पीएचसी फुल फॉर्म इन हिंदी एंड इंग्लिश की जानकारी तो आपको मिल गई लेकिन सवाल यह है कि पीएचसी आखिर है क्या और इसकी जरूरत क्यों पड़ी?

तो चलिए हम आपको बताते हैं पीएससी क्या होता है।

PHC क्या है?

पीएचसी का पूरा नाम प्राइमरी हेल्थ सेंटर होता है जिसे हिंदी में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र या सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्र कहा जाता है। जैसा कि इसके नाम से ही ज्ञात हो जाता है कि यह किस प्रकार की संस्था है और लोगों को कौन सी सेवा उपलब्ध कराती है। PHC एक ऐसा स्वास्थ्य केंद्र है जो भारत के ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए गठित की गई है और यह केंद्र राज्य सरकार द्वारा संचालित किया जाता है।

इस संस्था को विशेष रूप से ग्रामीण इलाकों के लिए ही बनाया गया है क्योंकि ग्रामीण इलाकों में ही ज्यादातर स्वास्थ्य जैसी आवश्यक सेवाएं नहीं पहुंच पाती। लोगों को सही समय पर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना इसका मुख्य उद्देश्य है।

जैसा कि आप जानते हैं कि अभी भी कई गांव ऐसे हैं जहां कोई स्वास्थ्य केंद्र मौजूद नहीं है इसलिए इन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है तो ऐसे में इस संस्था के द्वारा ही ग्रामीण लोगों को लाभ पहुंचाने का कार्य किया जाता है। 

इस संस्था द्वारा कई महत्वपूर्ण कार्य ग्रामीण इलाकों के वासियों के लिए किए जाते हैं जैसे कि इसके अंतर्गत ग्रामीण स्वास्थ्य नर्स शामिल होती है जो मरीज को घर जाकर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करती है और जब किसी मरीज की हालत ज्यादा खराब होती है तब उन्हें प्राइमरी हेल्थ सेंटर में लाया जाता है, इस तरह यह संस्था घरों में भी स्वास्थ्य सेवा प्रदान कराती है।

प्राइमरी हेल्थ सेंटर क्या है? इस सवाल का जवाब आपको मिल गया है लेकिन क्या आप जानना चाहते हैं कि इसका गठन क्यों किया गया?

तो चलिए पीएससी के गठन पर भी एक नजर डालते हैं।

PHC का गठन कब हुआ था?

पीएचसी (PHC) का गठन विश्व स्वास्थ्य संगठन अर्थात वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के द्वारा किया गया है। जैसा कि आप जानते हैं कि इस संगठन की स्थापना सभी देशों में स्वास्थ्य से संबंधित सुविधाओं को पहुंचाने के लिए और देखभाल के लिए की गई है और इसी संगठन ने alma-ata घोषणा के अनुसार 1978 में पीएचसी की स्थापना की।

लोगों की स्वास्थ्य से संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए इस संस्था का गठन किया गया जहां यह निर्धारित हुआ कि 30,000 की आबादी में एक सेंटर का निर्माण किया जाना जरूरी है। वर्तमान में यह संस्थाएं महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है और धीरे-धीरे राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के तहत इसे तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है।

यदि हम बात करें वर्तमान स्थिति की तो आज भारत में 23000 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अर्थात पीएचसी स्थापित हो चुके हैं जिसके अंतर्गत नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ और चिकित्सा अधिकारी शामिल है। इस संस्था के द्वारा कई कार्यक्रम चलाए जाते हैं और बहुत सारे कार्य किए जाते हैं जिसकी जानकारी आने वाले सेक्शन में आपको मिलेगी।

तो चलिए इसकी जानकारी में आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि पीएचसी के कार्य क्या हैं।

PHC के कार्य?

पीएचसी अर्थात प्रायमरी हेल्थ सेंटर के महत्वपूर्ण कार्य होते हैं, यदि आप भी PHC के अंतर्गत कार्य करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास एमबीबीएस की डिग्री होना आवश्यक है।

यदि हम बात करें इसके कार्यों की तो सबसे पहले आप को यह जानना चाहिए कि यह किस तरह महत्वपूर्ण कार्यक्रम चलाती है, जो कुछ इस प्रकार है:-

  • पीएचसी के द्वारा जन्म नियंत्रण कार्यक्रम चलाया जाता है जिसमें यह संस्था पुरुष नसबंदी और ट्यूबक्तोमी सर्जरी में महत्वपूर्ण योगदान देती है इसलिए सरकार द्वारा सब्सिडी भी इस संस्था को प्रदान की जाती है।
  • पीएचसी (PHC) के द्वारा शिशु टीकाकरण कार्यक्रम भी चलाया जाता है जिसमें नवजात बच्चों के टीकाकरण के कार्यक्रम को सफल बनाने में यह संस्था महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है इसके लिए भी सरकार द्वारा सब्सिडी इस संस्था को प्रदान की जाती है।
  • पीएचसी के द्वारा गर्भावस्था में महिलाओं को विशेष सुविधा प्रदान करने के लिए भी कार्यक्रम चलाए जाते हैं। अक्सर ग्रामीण क्षेत्रों में गर्भवती महिलाओं को समय पर चिकित्सा सुविधा प्राप्त ना होने की वजह से मुश्किलों का सामना करना पड़ता है ऐसे में इस संस्था द्वारा ग्रामीण इलाकों की महिलाओं को सही समय पर उचित चिकित्सा सुविधा प्रदान करने का महत्वपूर्ण कार्य किया जाता है।
  • पीएससी संस्था महामारी के समय में भी लोगों को बचाने के लिए विशेष योगदान देती है। इस संस्था द्वारा ग्रामीण इलाकों के लोगों को महामारी से बचने के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है। 
  • पीएचसी (PHC) संस्था आपातकालीन स्थिति में भी महत्वपूर्ण योगदान देती है। ग्रामीण इलाकों में अक्सर जंगली जानवरों के प्रकोप का खतरा बना रहता है इसलिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इससे संबंधित सारी सुविधा लोगों के लिए उपलब्ध रहती है जो सही समय पर उन तक पहुंचाए जाने का कार्य करती है।

इसके अलावा भी बहुत सारे महत्वपूर्ण कार्य पीएचसी द्वारा किए जाते हैं जो कुछ इस प्रकार हैं:-

  • स्वास्थ्य से जुड़ी शिक्षा लोगों को उपलब्ध कराना और प्रशिक्षण देना।
  • चिकित्सा से संबंधित सेवा देना और लोगों की स्वास्थ की देखभाल करना।
  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत कार्य करना।
  • रोगो के रोकथाम और नियंत्रण के लिए जरूरी कदम उठाना।
  • स्वास्थ्य सहायको को प्रशिक्षण देने का महत्वपूर्ण कार्य करना।
  • स्वास्थ से सम्बंधित आंकड़ों पर नज़र रखना।

PHC के अन्य फुल फॉर्म

पीएचसी के कई अन्य फुल फॉर्म्स भी होते हैं जिनके बारे में हमने नीचे बताया है।

PHC Full Form in Medical/Hospital/EducationPrimary Health Centers
PHC Full Form in ChemistryPetroleum Hydrocarbons
PHC Full Form in Law/CourtPrimary Health Centers

PHC से जुड़े सवाल जवाब (FAQS)

सीएचसी और पीएचसी में क्या अंतर है?

सीएचसी का फुल फॉर्म सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और पीएचसी का फुल फॉर्म प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र होता है। पीएचसी स्वास्थ्य देखभाल का प्राथमिक स्तर है जबकि सीएचसी द्वितीयक स्तर है।

पीएचसी का मतलब क्या होता है?

पीएचसी का मतलब प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र होता है।

निष्कर्ष – PHC Full Form in Medical

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने आपको पीएचसी क्या है, PHC ka full form क्या होता है (PHC full form in Hindi & English), पीएचसी के कार्यो और गठन की सम्पूर्ण जानकारी दी है। उम्मीद करते हैं यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी और पीएचसी के बारे में बहुत कुछ जानने के लिए मिला होगा।

अगर आपका कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं हम जल्द ही आपके कमेंट का रिप्लाई करेंगे। बाकी आप इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करके दुसरे लोगो को भी पीएचसी की जानकरी दे सकते हैं।

अन्य पढ़ें:-

Leave a Comment

Share via
Copy link