NTSE Full Form in Hindi | NTSE का फुल फॉर्म क्या है?

आज की पोस्ट में हम आपको NTSE full form in Hindi, NTSE ka full form क्या है, एनटीएससी परीक्षा की तैयारी कैसे करें इसके अलावा भी बहुत से पूछे जाने वाले सवालो का जवाब देने वाले हैं पोस्ट को अंत तक ध्यान से पढ़ें।

हमारे देश में हर फील्ड में परीक्षाओं के द्वारा ही चयन किया जाता है जहां कैंडिडेट की पर्सनालिटी और मानसिकता के साथ उनकी प्रतिभा का भी पता चलता है। परीक्षाओं के द्वारा ही यह तय किया जाता है कि कोई कैंडिडेट योग्य है या नहीं और हमारे भारत में अलग-अलग क्षेत्रों के लिए अलग-अलग एग्जाम निर्धारित किए गए हैं।

आज हम इन्हीं परीक्षा में से एक परीक्षा के बारे में आपको बताने वाले जिसका नाम आपने पहले भी सुना होगा। यहां हम बात करने वाले हैं – NTSE की जो प्रतिभाशाली छात्रों के चयन के लिए आयोजित की जाती है।

लेकिन बहुत से छात्र छात्राओं को यह नहीं पता होता कि NTSE का फुल फॉर्म क्या है या इसे क्लियर करने के फायदे क्या है। इसकी संपूर्ण जानकारी आज हम आपको देंगे तो आइए सबसे पहले जानते हैं एनटीएसई का फुल फॉर्म (NTSE Full Form in Hindi) क्या है।

NTSE Full Form in Hindi (NTSE का फुल फॉर्म क्या है?)

NTSE full form in Hindi

NTSE का फुल फॉर्म National Talent Search Examination होता है, इसके नाम से ही आप इसका हिंदी फुल फॉर्म भी जान सकते हैं। NTSE का फुल फॉर्म हिंदी में नेशनल टैलेंट सर्च एग्जामिनेशन है जिसे राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा कहा जाता है।

N: National

T: Talent

S: Search

E: Examination

अब आप यह समझ सकते हैं कि यह किस तरह का कार्यक्रम है लेकिन इसे और विस्तार से समझने के लिए आइए जानते हैं कि NTSE की परीक्षा क्या है।

NTSE परीक्षा क्या है ?

एनटीएससी अर्थात नेशनल टैलेंट सर्च एग्जामिनेशन एक छात्रवृत्ति कार्यक्रम है जिसे राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित किया जाता है। यह परीक्षा मुख्य रूप से दसवीं कक्षा के छात्रों के लिए आयोजित की जाती है।

इस परीक्षा के अंतर्गत बहुत से विद्यार्थी प्रतिभागी होते हैं और हर वर्ष 10 से 15 लाख विद्यार्थी एनटीएससी की परीक्षा जरूर देते हैं। यह परीक्षा काफी महत्वपूर्ण है जिसे एनसीईआरटी अर्थात नेशनल काउंसलिंग ऑफ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग के द्वारा आयोजित किया जाता है।

आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा कि इस परीक्षा को क्लियर करने से क्या लाभ मिलेंगे?

तो हम आपको बता दें कि अगर आपने NTSE की परीक्षा क्लियर कर ली तो आपको 11वीं और 12वीं कक्षा में प्रतिमाह 1250 रुपए की छात्रवृत्ति मिलती है वही स्नातक और स्नातकोत्तर की पढ़ाई करते वक्त आपको प्रतिमाह 2000 रुपये छात्रवृत्ति दी जाती है।

आपको यह भी बता दे कि यह कोई आसान परीक्षा नहीं है इस परीक्षा के लिए आपको प्रतिभाशाली होना चाहिए अर्थात आपकी बुद्धि तेज होनी चाहिए।

यह परीक्षा मुख्य रूप से उच्च बुद्धि वाले प्रतिभाशाली छात्रों की पहचान करने के लिए ही आयोजित की जाती है। साथ ही परीक्षा का उद्देश्य यह भी है कि जिन छात्रों की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है, उनकी स्थिति को बेहतर बनाया जा सके।

इससे उनकी आर्थिक स्थिति बेहतर होगी ही साथ ही उनका भविष्य भी उज्जवल होगा। खासकर उन छात्रों के लिए यह बहुत ही फायदेमंद कार्यक्रम है जो अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ देते हैं अर्थात आर्थिक स्थिति के कारण उन्हें अपनी पढ़ाई छोड़नी पड़ती है।

इसलिए छात्रवृत्ति प्राप्त करके वे अपने आगे का अध्ययन जारी रख सकते हैं। ऐसे बच्चों में बहुत से छात्र ऐसे होते हैं जो बहुत ही प्रतिभाशाली होते हैं लेकिन कुछ कारणवश उनकी प्रतिभा लोगों के सामने नहीं आ पाती, तो इस कार्यक्रम के जरिए उन बच्चों को यह अवसर मिलता है कि इस परीक्षा को क्लियर करके वह अपने प्रतिभाओं को सामने ला सकते है। एनसीईआरटी द्वारा आयोजित की जाने वाली इस परीक्षा का लाभ कई छात्रों को मिला है।

NTSE परीक्षा का इतिहास

अगर हम NTSE परीक्षा की शुरुआत पर नजर डालें तो पता चलता है कि 1961 में इस परीक्षा का आयोजन सबसे पहले किया गया था जिसका उद्देश्य प्रतिभाशाली छात्रों की खोज करना था। लेकिन उस वक्त केवल दिल्ली के छात्रों के लिए ही यह परीक्षा आयोजित होती थी जिसका विस्तार आज पूरे भारत में हो चुका है।

अब पूरे भारत मे माध्यमिक स्तर पर छात्रवृत्ति कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है, इसलिए अब दसवीं कक्षा में अध्ययन करने वाले कोई भी विद्यार्थी इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं और छात्रवृत्ति प्राप्त कर सकते हैं।

यहां केवल हाई स्कूल तक ही नहीं बल्कि स्नातक और स्नातकोत्तर की पढ़ाई के लिए भी छात्रवृत्ति दी जाती है। इसलिए उन छात्रों के लिए जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है या जो अपने स्टडी मटेरियल को भी खरीदने में असमर्थ है उनके लिए यह कार्यक्रम काफी फायदेमंद साबित हुआ है।

लेकिन बहुत से विद्यार्थी ऐसे भी हैं जिन्हें अभी तक NTSE परीक्षा के बारे में कोई जानकारी नहीं है जिससे वह इसका लाभ नहीं उठा पाते और इसी मुद्दे को देखते हुए हमें इस पोस्ट को लिखने की जरूरत महसूस हुई। 

तो आइए अब आगे जानते हैं कि एनटीएसई (NTSE) की परीक्षा किस प्रकार आयोजित होती है।

NTSE परीक्षा कितने चरणों में होती है?

एनटीएसई की परीक्षा आयोजित होने के दो चरण है – यह परीक्षा एनसीईआरटी द्वारा दो चरणों में आयोजित की जाती है इसलिए जो भी आवेदक इस परीक्षा के लिए आवेदन करना चाहता है उसे यह दोनों शरण पास करने जरूरी है तभी वे छात्रवृत्ति प्राप्त कर सकेंगे।

इस परीक्षा का पहला चरण राज्य स्तर पर पूर्ण होता है जिसमें पास होने वाले विद्यार्थी ही दूसरे चरण के लिए चुने जाते हैं। दूसरे चरण में जो परीक्षा ली जाती है वह स्वयं एनसीईआरटी द्वारा कराई जाती है।

पहले चरण में दसवीं कक्षा के 10 से 15 लाख विद्यार्थी प्रतिभागी होते हैं जिनमें से केवल 5000 विद्यार्थियों को ही दूसरे चरण की परीक्षा देने के लिए चुना जाता है, और इन 5000 विद्यार्थियों में से 1000 विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति के लिए चुना जाता है अर्थात 10 से 15 लाख विद्यार्थियों में केवल 1000 विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति मिलती है।

इससे पता चलता है कि यह एग्जाम काफी हाई लेवल का होता है और इसके लिए आपको बेहतर प्रदर्शन करने होते हैं।

किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए आपको यह पता होना चाहिए कि इस परीक्षा में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं या उस परीक्षा का पैटर्न क्या होता है? एनटीएसई में भी कुछ विशेष प्रकार का पैटर्न होता है जिसके बारे में हमने आगे बताया है इसलिए इसे ध्यान से समझने की कोशिश करें।

एनटीएसई परीक्षा में किस तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं ?

जैसा कि हमने आपको बताया कि यह परीक्षा प्रतिभाशाली छात्रों के चयन के लिए आयोजित की जाती है इसलिए छात्रों की मानसिक क्षमता को इस परीक्षा के अंतर्गत परखा जाता है।

छात्रों की मानसिक क्षमता और शैक्षिक योग्यता से संबंधित कुछ प्रश्न है जो यहां पूछे जाते हैं। मानसिक क्षमता परीक्षण के अंतर्गत सोचने की शक्ति, डिसीजन लेने की शक्ति, तार्किक क्षमता, मूल्यांकन, अनुरूपता, श्रंखला, पैटर्न धरना, वर्गीकरण, और कोडिंग- डिकोडिंग आदि से संबंधित प्रश्न एनटीएसई परीक्षा के अंतर्गत पूछे जाते हैं वही शैक्षिक योग्यता के अंतर्गत विज्ञान, गणित सामाजिक विज्ञान से जुड़े सवाल यहां पूछे जाते हैं।

एनटीएसई की परीक्षा में शामिल होने के लिए आपको इनकी योग्यताओं का पालन भी करना होगा जो अलग-अलग स्तर पर निर्धारित किए गए हैं। आइए जानते हैं कि उसकी योग्यताएं क्या है।

एनटीएसई परीक्षा के लिए योग्यताएं ?

NTSE परीक्षा के पहले चरण के लिए योग्यता:

  • एनटीएसई की पहले चरण की परीक्षा राज्य स्तर पर कराई जाती है इसलिए यह जरूरी है कि विद्यार्थी भारत का ही छात्र हो।
  • इस परीक्षा के अंतर्गत केवल दसवीं कक्षा के विद्यार्थी शामिल हो सकते हैं।
  • एनटीएसई की परीक्षा देने वाले विद्यार्थी को 9वी कक्षा में 60% अंक प्राप्त करना जरूरी है, जहां एससी और एसटी श्रेणी के विद्यार्थियों को 5% की छूट दी गई है अर्थात इन विद्यार्थियों को 9वी कक्षा में 55% अंक प्राप्त करना जरूरी है।

NTSE परीक्षा के दूसरे चरण के लिए योग्यता:

  • एनटीएसई परीक्षा के दूसरे चरण मे परीक्षा देने के लिए विद्यार्थी को प्रथम चरण में आयोजित परीक्षा में 80% या उससे अधिक अंक लाना जरूरी है।
  • यह परीक्षा राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित की जाती है जिसमें पहले चरण मे उत्तीर्ण 5000 विद्यार्थियों को चुना जाता है।
  • दूसरे चरण में आयोजित की जाने वाली परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले 1000 विद्यार्थियों को ही छात्रवृत्ति प्राप्त होती है।

अगर आप दसवीं कक्षा के विद्यार्थी हैं और आपके अंदर यह सारी योग्यताएं हैं तो आप एनटीएसई परीक्षा के लिए आवेदन करके छात्रवृत्ति प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन इसके लिए आपको आवेदन करने की प्रक्रिया भी पता होनी चाहिए जिसकी जानकारी हमने डिटेल में आगे बताई है।

NTSE परीक्षा के लिए आवेदन कैसे करें ?

एनटीएसई परीक्षा के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया बहुत ही सरल है इसके लिए आपको केवल पहले चरण में एप्लीकेशन फॉर्म जमा करना पड़ता है। साथ ही इस परीक्षा में बैठने के लिए आपको आवेदन फीस भी देनी पड़ती है जो राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के अनुसार अलग-अलग हो सकती है।

जब आप पहले चरण की परीक्षा उत्तीर्ण कर लेंगे तो आपको दूसरे चरण में परीक्षा देने के लिए कोई एप्लीकेशन फॉर्म नहीं डालना पड़ता। परीक्षा में बैठने के लिए आपको रोल नंबर की जरूरत पड़ेगी जो आपको ऑनलाइन पता चल जाएगी।

एनटीएसई की परीक्षा देने के लिए भी कुछ अनिवार्य शर्ते हैं जिसका पालन करना बहुत जरूरी है तो चलिए इसके बारे में भी जानते हैं।

NTSE परीक्षा में कितने अंक लाना अनिवार्य है?

एनटीएसई की परीक्षा में अंको को लेकर भी कुछ शर्तें निर्धारित की गई है जो वर्गों के आधार पर अलग-अलग है अर्थात वर्गों के आधार पर विद्यार्थियों को अनिवार्य अंक लाना होगा।

जो विद्यार्थी अनिवार्य अंक प्राप्त कर लेते हैं उन्हे ही आगे जाकर छात्रवृत्ति प्राप्त होती है तो आइए जानते हैं वर्गों के आधार पर इन्हें किस तरह बांटा गया है।

इस परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए जहां सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों को परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए 40% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है, वही एसटी, एससी और शारीरिक रूप से विकलांग विद्यार्थियों के लिए 32% अंक प्राप्त करना अनिवार्य किया गया है।

इस न्यूनतम अंक को प्राप्त करने के पश्चात ही विद्यार्थी छात्रवृत्ति के लिए चुने जाएंगे।

NTSE परीक्षा किस भाषा में होती है ?

बहुत से लोगों के मन में यह सवाल होगा कि NTSE की परीक्षा कौन सी भाषा में होती है? यह परीक्षा राज्य स्तर पर आयोजित की जाती है तो क्या यह हर राज्य के अनुसार अलग-अलग भाषा में आयोजित की जाती है?

तो हम आपको बता दें कि एनटीएसई परीक्षा के लिए किसी विशेष भाषा का निर्धारण नहीं किया गया है। राज्य के अनुसार सबकी भाषा अलग-अलग होती है इसलिए अगर किसी एक भाषा को निर्धारित कर दिया जाएगा तो विद्यार्थियों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि यह जरूरी नहीं हर विद्यार्थी को हर एक भाषा का ज्ञान हो, इसलिए इस परीक्षा के अंतर्गत यह निर्धारित है कि विद्यार्थी अपनी इच्छा के अनुसार अपनी भाषा चुन सकते हैं।

विद्यार्थी अपनी इच्छा के अनुसार हिंदी, अंग्रेजी, पंजाबी, तेलुगू, उर्दू या अन्य किसी भी भाषा में इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते है।

एनटीएसई परीक्षा के लिए तैयारी कैसे करें?

किसी भी परीक्षा के लिए आवेदन करने से पहले आपको उसकी तैयारी करनी पड़ती है जिसके लिए यह पता होना जरूरी है कि किसी भी परीक्षा की तैयारी किस प्रकार की जानी चाहिए ताकि आप परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन कर सकें।

NTSE की परीक्षा काफी महत्वपूर्ण और हाई लेवल की होती है इसलिए इस परीक्षा के अंतर्गत भी आपको बेहतर प्रदर्शन करना होता है जिसके लिए आपको अच्छी तैयारी करने की जरूरत है।

आइए हम आपको इससे रिलेटेड कुछ टिप्स देते हैं जिससे आप इस परीक्षा के लिए अच्छी तरह तैयारी कर सकेंगे:-

  • यह परीक्षा दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए है इसलिए आपको 9th और 10th क्लास की स्टडी अच्छे से करनी होगी।
  • एनटीएसई के ओल्ड पेपर को आप ऑनलाइन माध्यम से डाउनलोड कर सकते हैं जिसे सॉल्व करके आप अच्छी तैयारी कर पाएंगे। इससे आपको यह भी पता चल जाएगा कि इस परीक्षा के अंतर्गत किस तरह के सवाल ज्यादातर पूछे जाते हैं।
  • इस हाई लेवल के एग्जाम की तैयारी के लिए आपको दिन में कम से कम 5 से 6 घंटे पढ़ाई करनी होगी।
  • साथ ही इस बात का ध्यान आपको रखना है कि इस परीक्षा से संबंधित किसी भी प्रकार के टॉपिक को आपको छोड़ना नहीं है मतलब सारे टॉपिक की अच्छी जानकारी अपने पास रखें।
  • आप चाहें तो अपने सीनियर अर्थात उन लोगों से संपर्क कर सकते हैं जिन्होंने एनटीएसई की परीक्षा पहले दी है क्योंकि उनके पास अनुभव होता है इसलिए वे आपकी मदद कर सकते हैं साथ ही आपको कोचिंग भी दे सकते हैं।

तो इस तरह आप एनटीएसई की परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं। उम्मीद है कि आपको यहां दी गई सारी जानकारियां पसंद आई होगी और आप समझ गए होंगे कि एनटीएसई का फुल फॉर्म क्या है और यह किस प्रकार आयोजित किया जाता है।

अगर आप इसी तरह की नई जानकारियों से वाकिफ होना चाहते हैं तो हमारी वेबसाइट से जुड़े रहे।

NTSE से जुड़े सवाल जवाब (FAQS)
एनटीएसई परीक्षा कौन दे सकता है?

एनटीएसई परीक्षा के अंतर्गत केवल दसवीं कक्षा के विद्यार्थी शामिल हो सकते हैं।

NTSE से मुझे कितनी स्कॉलरशिप मिल सकती है?

NTSE की परीक्षा क्लियर करने पर आपको 11वीं और 12वीं कक्षा में प्रतिमाह 1250 रुपए की स्कॉलरशिप मिलती है वही स्नातक और स्नातकोत्तर की पढ़ाई करते वक्त आपको प्रतिमाह 2000 रुपये की स्कॉलरशिप मिल सकती है।

एनटीएसई में कितने छात्रों का चयन होता है?

एनटीएसई में केवल 1000 विद्यार्थियों का चयन होता है।

एनटीएसई में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

एनटीएसई में केवल 3 सब्जेक्ट होते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने आपको NTSE full form in Hindi, NTSE ka full form क्या होता है, एनटीएसई परीक्षा के लिए योग्यता क्या है और भी कई अधिक सवालो के जवाब दिए हैं। पोस्ट से जुड़ा आपका कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

उम्मीद करते हैं आपको NTSE से संबंधित सारी जानकारियां पसंद आई होंगी और अगर आप इसी तरह की नई जानकारियों के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारी वेबसाइट से जुड़े रहे। पोस्ट से कुछ हेल्प मिली तो सोशल मीडिया पर शेयर करके दुसरे स्टूडेंट्स को भी इसके जानकारी जरुर दें।

अन्य पढ़ें:-

Leave a Comment

Share via
Copy link