NBFC Full Form in Hindi – एनबीएफसी क्या है और कैसे काम करता है?

दोस्तों, बैंक और उसके कार्यो के बारे में तो आपको अच्छे से पता ही होगा. आज हम फाइनेंस से जुड़े NBFC के बारे में बात करेंगे NBFC क्या है, NBFC full form in Hindi क्या होता है, NBFC full form in Banking क्या है, एनबीएफसी से जुड़ी और भी जानकारी हम आपको देंगे.

NBFC Full Form क्या है (NBFC Full Form And Meaning)

NBFC Full Form in Hindi

NBFC Full Form in English – Non Banking Finance Company

NBFC Full Form in Hindi – गैर बैंकिंग वित्त कंपनी

NBFC का फुल फॉर्म “Non Banking Finance Company” होता है, हिंदी में इसे गैर बैंकिंग वित्त कंपनी कहते हैं. इसके नाम से ही आपको अंदाजा हो गया होगा की ये एक गैर कानूनी फाइनेंस संस्थान है. जिसको बैंक की तरह मान्यता तो प्राप्त नहीं है. लेकिन ये बैंक की तरह ही पैसे के लेन-देन का काम करती है.

यह एक तरह की फाइनेंस कंपनियां होती हैं, जो लोगो को उनकी जरुरत के वक़्त फाइनेंस सुविधा देने का काम करती हैं. ये कंपनिया registered तो होती हैं. लेकिन बैंक की तरह इन्हें मान्यता प्राप्त नहीं होती.

इन सभी गैर बैंकिंग वित्त कंपनी का उद्देश्य कर्ज देकर मुनाफा कमाना होता है. फाइनेंस कंपनियां स्टॉक को takeover करके भी पैसा कमाती है, साथ ही इन्वेस्टमेंट करके भी अच्छा खासा मुनाफा कमा लेती हैं.

NBFC बैंक से अलग कैसे है (NBFC And Bank Difference in Hindi)

नीचे हमने आपको कुछ ऐसी बाते बताई हैं. जिनसे आप समझ जायेंगे NBFC बैंक से अलग कैसे है:-

  • एनबीएफसी 1956 Act के तहत पंजीकृत कंपनी होती है.
  • एनबीएफसी Demand deposits स्वीकार नहीं करती. जबके बैंक करती है.
  • NBFC द्वारा चेक जारी नहीं किया जा सकता.
  • NBFC को हर साल अपने profit का कम से कम 20 प्रतिशत Reserve Fund के तौर पर रखना होता है.
  • एनबीएफसी का पंजीकरण RBI (Reserve Bank of India) के पास होना जरुरी हैं.
  • एनबीएफसी का regulation RBI द्वारा किया जाता हैं, क्योंकि ये बैंक जैसी activities में शामिल है.

भारत में एनबीएफसी (NBFC Companies in India)

31 जनवरी, 2021 तक RBI के साथ 9,507 गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियां (NBFC) पंजीकृत थीं. नौ हजार से अधिक एनबीएफसी का विशाल बहुमत जमा न लेने वाली श्रेणी से संबंधित था. नीचे हमने आपको कुछ NBFC की लिस्ट शेयर की है जो की काफी पोपुलर और टॉप कंपनियां हैं.

  • Bajaj Finance Limited.
  • Tata Capital Financial Services Ltd.
  • Cholamandalam
  • Indiabulls
  • Aditya Birla Finance Ltd. 
  • L & T Finance Limited
  • LIC Housing Finance
  • India Infoline (IIFL)
  • Muthoot Finance Ltd. 
  • HDB Finance Services
  • Mahindra Finance
  • Capital First Limited
  • Religare Finvest Limited
  • Manappuram Finance Limited
  • Power Finance Corporation Limited. 
  • Shriram Transport Finance Company Limited. 

एनबीएफसी के प्रकार (Types of NBFC in India)

एनबीएफसी (NBFC) कई तरह की होती हैं इनको category के हिसाब से बांटा हुआ है:-

  • Mortgage Finance Company – अगर आप गिरवी सम्बंधित फाइनेंस सुविधा लेना चाहते हैं, तो इस तरह की कंपनियां आपको ये सुविधा देती हैं.
  • Loan Company – यह कंपनियां कर्ज देने का कार्य करती हैं.
  • Housing Finance Company – यह कंपनिया होम लोन से जुड़े फाइनेंस करवाती हैं.
  • Investment Company – इस तरह की कंपनिया Investment से जुड़ी सुविधायें देती हैं. यह कंपनियां जनता से पैसा निवेश के रूप में लेती हैं फिर उस पैसे को वित्तीय उत्पादों में invest करती हैं.
  • Asset Finance Company – इस तरह की कंपनियां Machinery, Industrial equipment या फिर किसी भी तरह के asset के लिए फाइनेंस मुहैया कराने का काम करती हैं.
  • Core Investment Company – ऐसी कंपनियां पूरी तरह से निवेश के लिए बनी हैं.
  • Micro Finance Company – यह कंपनिया छोटे व्यापारी या फिर छोटे कर्ज की सुविधा प्रदान करती हैं.
  • Infrastructure Finance Company – यह कंपनियां Infrastructure से जुड़े कार्यो के लिए finance सुविधा प्रदान करवाती हैं.

NBFC के कार्य

NBFC कंपनिया फाइनेंस सुविधा देने के अलावा भी बहुत सी सुविधायें प्रदान करती हैं जैसी की बीमा जिसको IRDA (Insurance Regulatory and Development Authority) द्वारा रेगुलेट किया जाता है. 

एनबीएफसी कई तरह की investment भी करती है जैसे की Stock, Shares, Security, Bonds इत्यादि.

NBFC में पंजीकरण प्रक्रिया (How to Register NBFC in India)

  1. कंपनी को Company Act 2013 या फिर Act 1956 के तहत पंजीकृत करवायें.
  2. कंपनी का Net Owned Funds कम से कम 2 करोड़ या फिर उससे अधिक होना चाहिए.
  3. कंपनी में कम से कम 1 Director होना चाहिए वो भी same background से.
  4. एनबीएफसी के रूप में पंजीकरण करने के लिए अच्छे सिबिल स्कोर की आवश्यकता होती है.
  5. अब आरबीआई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं और आवेदन पत्र भरें साथ में जरुरी documents भी जमा कर दें.
  6. आवेदन पत्र जमा करने के बाद एक CARN नंबर generate होगा.
  7. आरबीआई की क्षेत्रीय शाखा को आवेदन की hard copy भेंजे.
  8. आवेदन की जांच और सत्यापन के बाद, कंपनी को लाइसेंस जारी किया जाता है.

निष्कर्ष 

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने आपको NBFC ka full form, What is NBFC in Banking (What is NBFC in India), How to register NBFC in India के बारे में डिटेल जानकारी शेयर की है.

पोस्ट से कुछ मदद मिली तो सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करें.

अन्य पढ़ें

Leave a Comment

Share via
Copy link