LGBTQ Full Form in Hindi | LGBTQ का मतलब क्या है?

आज की इस पोस्ट में आपको एलजीबीटीक्यू के बारे में जानकारी प्राप्त होगी LGBTQ क्या है, LGBTQ full form in Hindi, LGBTQ meaning in Hindi क्या होता है, एलजीबीटीक्यू से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए पोस्ट को अंत तक पढ़ें।

जैसा कि आप जानते हैं कि हमारे भारत में अनेक प्रकार के नागरिक निवास करते हैं उनमें से कुछ नागरिक ऐसे हैं जो एक दूसरे से अलग होते है अर्थात उनमें भी भिन्नता पाई जाती हैं जिन्हें देखते हुए अक्सर उन्हें हमारे समाज से अलग कर दिया जाता है।

लेकिन जिनकी सोच आधुनिक युग के साथ-साथ बदल रही है वे आज समझने लगे हैं कि हर व्यक्ति को समान अधिकार प्राप्त होना चाहिए लेकिन वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनकी सोच पिछड़ी हुई होती है। आज हम आपको एक ऐसे विषय की जानकारी देने वाले हैं जिसे जाने के बाद आप एक बार यह जरूर सोचेंगे कि आखिर क्यूँ इन्हें समाज में सामान दर्जा नहीं दिया जाता।

आज हम जिस विषय की बात कर रहे हैं उसका नाम है – एलजीबीटीक्यू (LGBTQ), क्या आपने कभी इसका नाम पहले सुना है?

यदि हां, तो शायद आपको इसका फुल फॉर्म पता होगा लेकिन यदि आपको इसकी कोई जानकारी नहीं है तो आज के इस पोस्ट में आपको एलजीबीटीक्यू फुल फॉर्म इन हिंदी (LGBTQ Full Form In Hindi) की सारी जानकारी मिलने वाली है। इसके अलावा एलजीबीटीक्यू का मतलब क्या होता है यह भी आप समझ जाएंगे तो चलिए सबसे पहले यही जानते हैं कि एलजीबीटीक्यू फुल फॉर्म इन हिंदी (LGBTQ Full Form In Hindi) क्या है।

LGBTQ Full Form in Hindi (एलजीबीटीक्यू का फुल फॉर्म क्या है?)

LGBTQ Full Form in Hindi

हमारे समाज में एलजीबीटीक्यू प्रकार के लोग भी होते हैं जिन्हें समाज से अलग माना जाता है अर्थात उनके साथ कई बार अच्छा व्यवहार नहीं किया जाता। आप इसकी वजह जरूर जानना चाहेंगे और यह जानने के लिए आपको यह जानना होगा कि इसका फुल फॉर्म क्या होता है, तो आपको बता दें कि एलजीबीटीक्यू का फुल फॉर्म लैसबियन गे बाय सेक्सुअल ट्रांसजेंडर क्वीर (Lesbian Gay Bisexual Transgender Queer) होता है जो कुछ इस प्रकार है-

L: Lesbian

G: Gay

B: Bisexual

T: Transgender

Q: Queer

अब इसका इंग्लिश फुल फॉर्म तो आप जान गए और इसे जानने के बाद आपको यह समझ आ गया होगा कि हम आज किस विषय की बात कर रहे हैं, लेकिन बहुत लोगों के मन में इसे लेकर बहुत सारे डाउट होंगे जैसे कि इसे हिंदी में क्या कहते हैं या एलजीबीटीक्यू का हिंदी फुल फॉर्म क्या है और अक्सर इस तरह के सवालों को गूगल पर सर्च भी किया जाता है तो चलिए हम आपको बताते हैं कि इसका हिंदी फुल फॉर्म क्या है।

LGBTQ का फुल फॉर्म हिंदी में समलैंगिक गे उभयलिंगी ट्रांसजेंडर क्वीर होता है।

L: समलैंगिक

G: गे

B: उभयलिंगी

T: ट्रांसजेंडर

Q: क्वीर

अब आप समझ गए होंगे कि एलजीबीटीक्यू का क्या मतलब होता है।

बहुत से ऐसे लोग भी हैं जो विस्तार से इसके बारे में जानना चाहते हैं, क्या आपको भी जानना है कि LGBTQ का क्या मतलब होता है और इसे किस प्रकार परिभाषित किया जा सकता है?

तो अगले सेक्शन में हम इसके बारे में विस्तार से बताने वाले हैं तो आइए जानते हैं कि एलजीबीटीक्यू का मतलब क्या होता।

LGBTQ का मतलब क्या है?

आपको यह बात समझाने की जरूरत तो बिल्कुल नहीं है कि हमारे समाज में अलग-अलग प्रकार के लोग रहते हैं। जिनमें से कुछ नॉर्मल व्यक्ति होते हैं तो कुछ ऐसे होते हैं जो समलैंगिक गे उभयलिंगी ट्रांसजेंडर और क्वीर की श्रेणी में आते हैं। इस कारण इन लोगों को समानता का दर्जा प्राप्त नहीं होता।

हालांकि आज के समय में इनकी स्थिति पहले से काफी बेहतर हुई है क्योंकि शिक्षा ने लोगों में सोचने समझने की शक्ति में वृद्धि की है लेकिन यदि बात की जाए पुराने समय में इनके साथ होने वाले दुर्व्यवहार की तो इन्हें अपने समाज से अलग कर दिया जाता था और इनके साथ बुरी तरह व्यवहार किया जाता था।

इन श्रेणियों में आने वाले लोग वैसे ही हैं जैसे नॉर्मल लोग होते हैं फर्क केवल इतना है कि यह लोग अपने सामान लिंग के प्रति आकर्षित होते हैं, आइए इसे विस्तार से समझने की कोशिश करते हैं।

LGBTQ में आने वाले लोग वे लोग होते है जो सामान लिंग की तरफ आकर्षित होते है अर्थात पुरुष-पुरुष की तरफ, और महिलाएं-महिलाओंं की तरफ आकर्षित होती है। इसके अलावा इस श्रेणी में ट्रांसजेंडर को भी शामिल किया जाता है।

आइए एलजीबीटीक्यू के प्रत्येक श्रेणी को विस्तार से समझाते हैं।

LGBTQ के बारे में

समलैंगिक (लेस्बियन):- आपने कभी ना कभी इसके बारे में जरूर सुना होगा। इसके अंतर्गत वे लड़किया और महिलाएं शामिल होती हैं जो लड़कियों के प्रति ही आकर्षित होती हैं। ऐसी लड़कियों और महिलाओंं को केवल सामान लिंग (लड़किया) ही पसंद आती हैं और ये लोग लड़कों या पुरुषो के प्रति आकर्षण महसूस नहीं करते। इन लोगों को कानून द्वारा यह इजाजत भी दी जाती है कि यह चाहे तो लड़कियों से शादी भी कर सकते हैं, समान लिंग की तरफ आकर्षित होने के कारण इन्हें समलैंगिक कहा जाता है।

समलैंगिक (गे):- इस श्रेणी के अंतर्गत वे पुरुष आते हैं जो महिलाओं या लड़कियों की तरफ आकर्षित ना होकर पुरुषों की तरफ ही आकर्षित होते हैं इसलिए इन्हें समलैंगिक कहा जाता है। सीधे शब्दों में इन्हें केवल लड़के ही पसंद आते हैं और उन्हीं की तरफ आकर्षित होते हैं। कानून द्वारा इन्हें भी इजाजत मिल चुकी है कि यह चाहे तो लड़कों से शादी कर सकते हैं।

उभयलिंगी (Bisexual): – उभयलिंगी के बारे में यदि आप नहीं जानते तो यहां हम आपको बताते हैं कि उभय लिंगी क्या होता है।

उभय लिंगी का अर्थ होता है लड़के और लड़की दोनों के प्रति ही आकर्षण महसूस करना अर्थात इसके अंतर्गत वे लोग शामिल होते हैं जो केवल पुरुषों या केवल महिलाओं के प्रति नहीं बल्कि महिला व पुरुष दोनों के प्रति आकर्षण महसूस करते हैं। इसके अंतर्गत महिलाएं भी आ सकती हैं और पुरुष भी हो सकते हैं और इसी कारण इन्हें बायसेक्सुअल कहा जाता है।

ट्रांसजेंडर: – ट्रांसजेंडर के बारे में आप जानते भी होंगे और आपने इन्हें देखा भी होगा क्योंकि समान्यत: इन्हें हिजड़े या किन्नर कहकर पुकारा जाता है। लेकिन बहुत कम लोग यह जानते हैं कि आखिर इनके समाज से अलग होने का कारण क्या है? अर्थात यह किस प्रकार नॉर्मल व्यक्ति से अलग होते हैं?

तो हम आपको बता दें कि एक ट्रांसजेंडर वह होता है जो अपने लिंग के विपरीत लिंग की तरह व्यवहार करता है।

अब आप समझ गए होंगे कि ट्रांसजेंडर आखिर होता क्या है तो चलिए इस विवरण में आगे बढ़ते है।

क्वीर:- इसके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते, पर शायद कई लोग ऐसे भी होंगे जो पहली बार इसका नाम सुन रहे होंगे अगर आप भी उनमें से एक है तो हम आपको बता दें कि क्वीर की श्रेणी में वह लोग आते हैं जिन्हें यह ज्ञात नहीं होता कि वह किसके प्रति आकर्षण महसूस कर रहे हैं अर्थात ऐसे लोग यह चयन नहीं कर पाते कि उन्हें लड़के पसंद है या लड़कियां पसंद है।

तो इस तरह एलजीबीटीक्यू के अंतर्गत अलग-अलग श्रेणी के लोगों को शामिल किया गया है और नॉर्मल लोगों से विभिन्नता के कारण ही इन्हें समाज से अलग माना जाता है। जैसा कि हमने आपको बताया कि धीरे-धीरे इनकी स्थिति में सुधार हो रहा है और कानून द्वारा भी इन्हें मान्य कर दिया गया है इसलिए लोगों की सोच में भी बदलाव देखने को मिल रहे हैं। अधिक बदलाव के लिए इनके विषय में जानना जरूरी है वही

एलजीबीटीक्यू के विषय में जानना इसलिए भी जरूरी है ताकि इनके बीच की असमानता को मिटाया जा सके।

LGBTQ से जुड़े सवाल जवाब (FAQS)

एलजीबीटीक्यू का मतलब क्या होता है?

एलजीबीटीक्यू का मतलब लैसबियन गे बायसेक्सुअल ट्रांसजेंडर क्वीर (Lesbian Gay Bisexual Transgender Queer) होता है।

एलजीबीटी कब बनाया गया?

एलजीबीटी को मान्यता दिलाने के लिए इसकी नीव 1950 में अमेरिका में रखी गयी थी।

निष्कर्ष – LGBTQ Meaning in Hindi & English

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने आपको LGBTQ विषय के बारे में जानकारी प्रदान की है LGBTQ क्या है, LGBTQ full form in Hindi क्या होता है, (LGBTQ ka full form), एलजीबीटीक्यू के बारे में सम्पूर्ण जानकारी आपको मिलेगी। पोस्ट से सम्बंधित आपका कोई भी सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं।

आपको पोस्ट से कोई भी मदद मिली तो इसे सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करें, जिससे बाकी लोगो को भी एलजीबीटीक्यू के बारे में सही जानकारी प्राप्त हो सकें।

अन्य पढ़ें:-

Leave a Comment

Share via
Copy link