FLN Full Form in Hindi | FLN Ka Full Form क्या है?

दोस्तों, अगर आपको FLN के बारे में बिल्कुल भी जानकारी नहीं है तो आप बिल्कुल सही आर्टिकल पर आएं क्योंकि आज इस आर्टिकल में हम FLN Full Form in Hindi, FLN ka full form क्या है और FLN के बारे में अन्य जानकारी इस आर्टिकल में आपको देने की कोशिश करेंगे।

अगर आपको FLN के बारे में पूरी जानकारी हासिल करनी है तो इस आर्टिकल को अंत तक जरुर पढ़ें और हर एक पॉइंट को अच्छे से पढ़ें, ताकि आपको FLN की पूरी जानकारी बिल्कुल डिटेल्स से मिल सके।

हमारे देश में समय-समय पर सरकार की नई शिक्षा नीति लागू की जाती है जिसके अंतर्गत छात्रों के पढ़ाई पर फोकस किया जाता है। एक ऐसे ही नई शिक्षा नीति के बारे में आज हम बात करने वाले हैं जिसका नाम है FLN।

बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें FLN के बारे में नहीं पता होगा, की इसका उद्देश्य क्या है? या इसके अंतर्गत किन विषयों को शामिल किया गया है? ये नीति बच्चों के समग्र विकास के लिए लागू की गई है इसलिए इसकी संपूर्ण जानकारी होना जरूरी है।

FLN Full Form in Hindi (FLN का फुल फॉर्म क्या है?)

FLN full form in Hindi

तो चलिए दोस्तों बढ़ते हैं आज के हमारे मुख्य पॉइंट की तरफ की FLN Full Form in Hindi क्या है? इस पॉइंट में इसके बारे में जानेंगे, ताकि हर एक व्यक्ति को FLN का पूरा नाम पता लग सके, जब आपको FLN का पूरा नाम पता होगा तभी जाकर आपको FLN के बारे में अन्य जानकारी समझ आएगी तो चलिए दोस्तों बढ़ते हैं FLN की फुल फॉर्म की तरफ।

FLN का फुल फॉर्म इंग्लिश में Foundational Literacy And Numeracy होता है, हिंदी में इसका फुल फॉर्म “मूलभूत साक्षरता और संख्यात्मकता” है।

FLN क्या होता है?

एफएलएन क्या होता है यह जानने के लिए सबसे पहले जरूरी है कि आप इसके फुल फॉर्म और इसके अर्थ कों समझे, इसलिए सबसे पहले हम आपको यही बताते हैं कि इस का फुल फॉर्म क्या है।

कई लोग ऐसे होंगे जो इसके फुल फॉर्म से ही समझ गए होंगे कि आखिर यह होता क्या है लेकिन बहुत से लोगों को अभी भी इसके बारे में जानकारी नहीं मिली होगी तो चलिए अब हम आपक बताते हैं कि FLN होता क्या है।

दरअसल FLN भारत सरकार की एक नई शिक्षा नीति है जिसे निपुण भारत मिशन के अंतर्गत लागू किया गया है। इसके अंतर्गत 0 से 8 साल के बच्चों के समग्र विकास पर फोकस किया जाना है।

ऐसा कहा जाता है कि बच्चों की बुद्धि और शारीरिक विकास का सबसे महत्वपूर्ण समय यही होता है और यहीं से बच्चों में नए भावनाओं का समावेश किया जा सकता है। इसे ध्यान में रखते हुए ही सरकार ने अपनी नई शिक्षा नीति के अंतर्गत 0 से 8 साल के बच्चों को शामिल किया है। 

आप लोग इस नई शिक्षा निति का उद्देश्य भी जरूर जानना चाहेंगे। तो आइए जानते हैं कि इस नई शिक्षा नीति के अंतर्गत किन उद्देश्यों को पूरा किया जाना है।

FLN के उद्देश्य?

एफएलएन यानि कि मुलभुत साक्षरता और संख्यात्मकता के रूप मे लागू की गई नई शिक्षा नीति का बहुत ही महत्वपूर्ण उद्देश्य है।

इसके अंतर्गत बच्चों कि सामाजिक, शैक्षिक और बौद्धिक विकास को शामिल किया गया है। निपुण भारत मिशन की इस योजना के अंतर्गत यह सुनिश्चित किया जाना है कि बच्चे खेल, कहानियों, तुकबंदी, गतिविधियों, स्थानीय कला, शिल्प कला और संगीत के माध्यम से विकास के रास्ते पर आगे बढ़े और नई चीजें सीखने के लिए तत्पर हो।

सीधे शब्दों में कहा जाए तो इस योजना का उद्देश्य बच्चों को नए माध्यमों का उपयोग करके हर क्षेत्र में उनका ध्यान आकर्षित करना है जिसे प्री स्कूल से लेकर थर्ड ग्रेड तक के बच्चों के लिए लागू किया गया है। ये योजना उनके डेवलपमेंट अर्थात विकास के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है।

एफएलएन के अंतर्गत कैसे सीखें

जैसा कि हमने आपको बताया इस योजना के अंतर्गत खेल, कहानी, तुकबंदी, गतिविधियों, संगीत आदि के जरिए बच्चों के समग्र विकास पर फोकस किया जाना है। साथ ही यहां इस बात पर भी ध्यान दिया जाएगा कि थर्ड ग्रेड तक के सभी बच्चे सरल वाक्य को पढ़ने और बुनियादी गणित की समस्याओं को सुलझाने में सक्षम हो।

यहां बेहतर समझ और संख्यात्मक ज्ञान के लिए ड्राइंग, खेल, कार्टून आदि के माध्यम से बच्चों को नई चीजें दिखाई जाती है। इससे बच्चों की पढ़ाई की तरफ रुचि तो बढ़ती है साथ ही वे नई चीजें सीखने के लिए भी तत्पर होते हैं।

मानसिक, शारीरिक और बौद्धिक विकास के लिए यह जरूरी है की थर्ड ग्रेड तक के बच्चों को बेसिक कैलकुलेशन के साथ आसान शब्दों और वाक्यों को पढ़ना आ जाए।

FLN की विशेषताएं क्या है?

ऊपर दी गई जानकारियों से आप अब तक समझ गए होंगे कि एफएलएन की नई शिक्षा नीति के अंतर्गत कितने सारे लाभ आपको मिल रहे हैं। आइये इसकी विशेषताओं को विस्तार से समझते है:-

  • FLN निपुण भारत मिशन के अंतर्गत शुरू किया गया है जिसमें देश के भविष्य अर्थात बच्चों के विकास पर जोर दिया जा रहा है।
  • FLN के अंतर्गत 0 से 8 साल के थर्ड ग्रेड के बच्चों को शामिल किया गया है।
  • इसका उद्देश्य बच्चों के समग्र विकास पर फोकस करना है।
  • मूलभूत साक्षरता और संख्यात्मकता की नई शिक्षा नीति के अंतर्गत बच्चों को ड्राइंग, खेल, गतिविधियों, संगीत, कार्टून आदि के माध्यम से बेसिक कैलकुलेशन और आसान शब्दों और वाक्यों को पढ़ना सिखाया जाता है।
  • शारीरिक, मानसिक और बौद्धिक विकास के लिए नई- नई गतिविधियां यहां कराई जाती है जिससे बच्चे पढ़ाई की तरफ रुचि लें और नई चीजों को सीखने में तत्पर हो।
  • बेहतर प्रशिक्षण और संख्यात्मक ज्ञान के जरिए बच्चे आगे जीवन में प्रगति कर सकें इसके लिए वह हर संभव कार्य किए जाते हैं जो 8 साल के बच्चों के बौद्धिक विकास के लिए जरूरी है।

FLN से जुड़े सवाल जवाब (FAQS)

शिक्षा में FLN क्या है?

FLN का फुल फॉर्म Foundational Literacy And Numeracy होता है, हिंदी भाषा में इसे मूलभूत साक्षरता और संख्यात्मकता कहते हैं। एफएलएन मिशन निपुण भारत के तहत मूलभूत साक्षरता और संख्यात्मक मिशन है। FLN एक ऐसा मिशन हैं जिसका उद्देश्य 0 से 8 साल तक के बच्चों का समग्र विकास करना है।

FLN की आवश्यकता क्यों है?

FLN की आवश्यकता बच्चों के अन्दर शिक्षा के सभी लक्ष्यों को प्राप्त करना, उन्हें संविधानिक मूल्यों के बारे में जागरूक करना और भारत का एक ज़िम्मेदार नागरिक बनाने में है।

निष्कर्ष – FLN Full Form in Education in Hindi

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने आपको FLN full form in Hindi क्या है, FLN ka full form क्या होता है, एफएलएन उद्देश्य और इसकी विशेषताएं क्या हैं इसकी पूरी जानकारी दी है। आगर आपका कोई सवाल है या आप कुछ पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

पोस्ट हेल्पफुल लगी तो आप इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करके दुसरे लोगो को भी FLN की जानकारी दें।

अन्य पढ़ें:-

Leave a Comment

Share via
Copy link