CV Full Form in Hindi क्या है | CV का मतलब क्या होता है?

अगर आप जॉब करने के बारे में सोच रहें है तो आपने CV शब्द सुना ही होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं CV full form in Hindi क्या है, सीवी कैसे लिखते हैं, CV full format कैसा होना चाहिये. आज की पोस्ट में हम आपको सीवी से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी देंगे जो की आपके लिए काफी मददगार साबित होगी.

इंटरव्यू पर जाने के लिए आपको CV की जरुरत पड़ती है जिससे इंटरव्यू लेने वाले व्यक्ति को आपके बारे में जानकारी प्राप्त होती है, और वह उस हिसाब से आपसे बातचीत शुरू कर पता है. सीवी आपका बायोडाटा होता है. जिसमे आपकी व्यक्तिगत से लेकर पेशेवर जानकारी का पूरा विवरण होता है. चलिए आगे डिटेल में Full form of CV, CV full form for Job के बारे में जानते हैं.

CV Full Form in Hindi (What is Full form of CV)?

CV full form in Hindi

CV Full form in English – Curriculum Vitae

CV full form in Hindiकरिकुलम विटे

सीवी का फुल फॉर्म Curriculum Vitaeहोता है, हिंदी भाषा में इसे बायोडाटा या फिर व्यक्ति वृत्त भी कहते हैं. सीवी का फॉर्मेट बहुत ही सरल होना चाहये. सीवी में आपको अपने बारे में जानकारी देनी होती है जैसे की आपका उद्देश्य, शैक्षणिक योग्यता, कार्य अनुभव, आदतें, कौशल, पर्सनल डिटेल्स इत्यादि.

सीवी का क्या मतलब होता है? CV Meaning in Hindi

सीवी का मतलब आपका बायोडाटा होता है. जो की 2 से 3 पृष्ठ का होता है. जिसमे आपके बारे में पूरा विवरण लिखा होता है कैरियर का उद्देश्य, आपने कहाँ तक पढाई की है, किस कंपनी में कितने साल काम किया है या फिर फ्रेशर हैं, पढाई के अलावा कोई कोर्स किया है या नहीं, आपकी पसंद-नापसंद, पर्सनल डिटेल्स इत्यादि. CV का मकसद इंटरव्यू लेने वाले व्यक्ति को आपके बारे में जानने के लिए होता है.

जैसा की हमने बताया आपका सीवी बहुत ही सरल फॉर्मेट में होना चाहिये. क्योंकि इंटरव्यू लेने वाले व्यक्ति के पास इतना समय नहीं होता की वह आपका सीवी ही पढ़ता रहे. आपकी तरह वहां बहुत से लोग इंटरव्यू के लिए आते हैं. उन्हें सबको टाइम देना होता है. इंटरव्यू लेने वाले व्यक्ति यानी के HR को आपकी पसंद-नापसंद से कोई मतलब नहीं होता उसे बस आपके कौशल से मतलब होता है.

सीवी द्वारा कंपनी को कर्मचारी का चुनाव करने में काफी मदद मिलती है, CV से पता लग जाता है इंटरव्यू के लिए आये लोग कैसे है. बहुत सी कंपनिया इंटरव्यू के बाद भी कुछ समय तक सीवी को संग्रहित करके रखती है. जिससे भविष्य में जरुरत पड़ने पर वह उसके द्वारा रिजेक्ट किये लोगो को इंटरव्यू के लिए फिर से बुला सकें.

इंटरव्यू में सफलता के उपाय

कंपनी आपसे ज्यादा आपकी स्किल्स में इंटरेस्ट रखती है आपको क्या आता है आप कम्पनी को आगे बढ़ने में कैसे मदद कर सकते हैं. आपके communication skills कैसे हैं. सिचुएशन को कैसे हैंडल करते हैं. पेशेंस लेवल कितना है. इंटरव्यू में यही सारी चीज़े टेस्ट की जाती हैं. इसलिए इन चीजों का खासतौर पर ध्यान रखना चाहिए. नीचे हमने इंटरव्यू में सफल होने के लिए कुछ जरुरी बाते बतायी हैं.

  • सबसे पहले आपका धैर्य चेक किया जाता है. जिसके लिए इंटरव्यू पर आपको समय से पहले बुलाया जाता है. और  देखा जाता है आप कितने समय तक इंतज़ार कर सकते हैं आपमें कितना धैर्य है, इसलिए धैर्य जरुर रखें.
  • आपके communication skills कैसे है, कैसे आप अपनी बात दुसरो के सामने रखते हैं.
  • आपसे जानबूझ कर ऐसे सवाल किये जाते हैं जिससे आप असमंजस में पड़ जायें. उससे देखा जाता है आप परिस्थिति को कैसे सँभालते हैं.
  • आपका कौशल देखा जाता है. जिससे आपको काम करने में आसानी हो और उन्हें ज्यादा समय आप पर ना लगाना पड़े.
  • आपको उन्हें यह दिखाना है आप कंपनी के लिए कैसे फायदेमंद हो सकते हैं. क्योंकि हर कंपनी ऐसे कर्मचारी चाहती है जो उस कंपनी के विकास में मदद कर सकें.

ये कुछ बुनियादी और सबसे ज्यादा जरुरी चीज़े हैं जिन्हें आपको इंटरव्यू में सफल होने के लिए जानना जरुरी है. अब जान लेते हैं आपका CV full format कैसा होना चाहिये. क्योंकि कहते हैना “फर्स्ट इम्प्रैशन इस लास्ट इम्प्रैशन”. तो इंटरव्यू देने से पहले आपका CV आकर्षित और सरल होना जरुरी हैं.

सीवी कैसे लिखते हैं? CV full format कैसा होना चाहिए, Resume Format

सीवी को रिज्यूमे (Resume) भी कहा जाता है. दोनों का मतलब एक ही है थोड़े बहुत बदलाव होते हैं लेकिन लगभग दोनों एक ही होते हैं. इसलिए हम आपको एक सीवी फॉर्मेट बता रहें है जिसके हिसाब से आप अपना CV तैयार कर सकते हैं.

  • आपके बारे में कुछ विवरण

आपको सीवी की शुरुआत में सबसे पहले अपने बारे में कुछ शोर्ट में जानकारी देनी है, जैसे की आपका पूरा नाम, फ़ोन नंबर, ईमेल और घर का पता.

  • कैरियर ऑब्जेक्टिव

इस वाले सेक्शन में आपको अपने कैरियर ऑब्जेक्टिव बताने हैं. आपका कंपनी से क्या उद्देश्य है आपके करियर गोल्स क्या हैं. जिससे कंपनी को पता लग सके आप उनके लिए किस तरह से बेस्ट हैं.

  • शैक्षिक योग्यता

इस सेक्शन में आपको आपनी पढाई के बारे में सभी जानकारी देनी है. कब आपने 10th, 12th पास की कॉलेज कहाँ से किया है, किस सब्जेक्ट में किया है इत्यादि.

  • कार्य अनुभव

यहाँ पर आपको अपनी पिछली कंपनी के बारे में बताना है, अब तक आपने कितनी कंपनी के साथ काम किया है उनके नाम, कितने साल किया है किस पोजीशन पर किया है, अगर आप नये हैं तो आप फ्रेशेर लिख सकते हैं इसमें कोई दिक्कत वाली बात नहीं है.

  • अन्य कौशल

अगर आपके पास कोई अन्य कौशल है जैसे की अगर आपको basic कंप्यूटर या फिर Ms. Office, फोटोशोप इस तरह का कुछ भी आता है या आपने कोई कोर्स किया है तो आप यहाँ उसके बारे में बता सकते हैं.

  • आदतें  

इस वाले सेक्शन में आपको अपनी अच्छी आदतों के बारे में लिखना है जैसी की रीडिंग, कुकिंग, सिंगिंग इत्यादि.

  • व्यक्तिगत प्रोफाइल 

यहाँ आपको अपने व्यक्तिगत प्रोफाइल के बारे में डिटेल में वर्णन करना है. जैसे की आपका नाम, माता – पिता का नाम, भाई-बहन (Siblings) कितने है, पिता क्या काम करते हैं, जन्म तिथि, लिंग, वैवाहिक स्थिति, भाषा और राष्ट्रीयता.

निष्कर्ष

उम्मीद करते हैं आपको अच्छे से समझ आ गया होगा CV full form in Hindi क्या है, CV ka full form kya hota hai, Curriculum vitae meaning in Hindi क्या है, सीवी कैसे लिखते हैं, CV full format कैसा होना चाहिए. पोस्ट से अगर हेल्प मिली तो सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें. जिससे उन्हें भी सीवी के बारे में जानकारी मिल सके और वह भी अपनी पहली जॉब के लिए अपना सीवी फॉर्मेट तैयार कर सकें.

अन्य पढ़ें

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap