CDO Full Form in Hindi | सीडीओ का फुल फॉर्म क्या है?

यहां आज हम आपको बताने वाले हैं सीडीओ फुल फॉर्म इन हिंदी (CDO Full Form In Hindi) क्या है और यह क्या होता है? इसके अलावा इसकी योग्यता और कार्य की भी जानकारी आपको मिलने वाली है, तो यदि आप CDO बनना चाहते हैं या इससे संबंधित जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको यह पोस्ट आखिर तक पढ़ना होगा।

हमारे देश में राज्य और जिले स्तर पर कई ऑफिसर कार्य करते हैं जोकि ग्रामीण और शहरी इलाकों के विकास के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और अक्सर इन ऑफिसर के बारे में कई तरह के साक्षात्कार में या परीक्षा में लोगों से पूछा जाता है, इसलिए इन ऑफिसर के कार्य और इनके कार्यों से संबंधित अन्य जानकारी रखना आवश्यक हो जाता है।

आज हम आपको एक ऐसे ही सरकारी पद के बारे में बताने वाले हैं जो अपने पद पर रहकर कई सारे महत्वपूर्ण कार्य करता है और उसके ऊपर कई सारी जिम्मेदारियां होती है। इस पद का नाम है – CDO (सीडीओ)।

क्या आपने कभी सीडीओ के बारे में सुना है?

यदि आपने सीडीओ को अपने करियर ऑप्शन के रूप में चुना है तो आप इसके बारे में जरूर जानते होंगे और साथ ही वह लोग जो सीडीओ बनना चाहते हैं, अक्सर इससे संबंधित जानकारियां प्राप्त करने के लिए विभिन्न तरह की वेबसाइट में विजिट करते रहते है। यदि आप आज भी सीडीओ से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए इस वेबसाइट पर आए हैं तो यहां आपको संपूर्ण जानकारी उपलब्ध होने वाली है।

तो चलिए सबसे पहले यह जानते हैं कि सीडीओ फुल फॉर्म इन हिंदी (CDO Full Form In Hindi) क्या है।

CDO Full Form in Hindi (CDO का फुल फॉर्म क्या है?)

CDO Full Form in Hindi

CDO के बारे में आगे पढ़ने से पहले आपको यह जानना चाहिए कि CDO फुल फॉर्म इन हिंदी क्या है, इसके बाद आप इसे बेहतर तरीके से समझ पाएंगे।

तो हम आपको बता दें कि सीडीओ का फुल फॉर्म Chief Development Officer होता है, जिसका हिंदी उच्चारण चिफ डेवलपमेंट ऑफिसर होता है। यदि बात की जाए इसके हिंदी फुल फॉर्म की तो हम आपको बता दें कि इसका हिंदी में फुल फॉर्म मुख्य विकास अधिकारी होता है।

 C: Chief

 D: Development

 O: Officer

यह बहुत ही सम्मानीय पद है और इसके महत्वपूर्ण कार्य भी होते हैं जिसके बारे में आप को आगे जानकारी दी जाने वाली है। सीडीओ का फुल फॉर्म जानने के बाद यह सवाल आता है कि सीडीओ आखिर क्या है तो चलिए इसका जवाब भी हम आपको देते हैं।

CDO क्या होता है?

सीडीओ का पूरा नाम चीफ डेवलपमेंट ऑफिसर(Chief Development Officer) होता है जिसे विकास मंत्रालय द्वारा नियुक्त किया जाता है। यह एक सरकारी पद है जो काफी प्रतिष्ठित माना जाता है और इसका उद्देश्य सरकारी योजनाओं को खंड स्तर पर लागू करना है।

आज के समय में ऐसे कई लोग हैं जो सीडीओ बनकर अपना करियर बनाना चाहते हैं अगर आप भी उनमें से एक है तो यह जानकारी आपके लिए काफी ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकती है।

इस प्रशासनिक पद के अंतर्गत देश के राज्यों के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के आधार पर नियुक्ति की जाती है, हालांकि मुख्य विकास अधिकारी बनना थोड़ा कठिन होता है क्योंकि इसके लिए आपको कई चरणों से गुजरना होगा। यदि आप CDO बनते हैं तो आपको जिला स्तर पर ग्रामीण और शहरी इलाकों के विकास का कार्य करना पड़ेगा।

यह कार्य सीईओ अर्थात चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर के अंतर्गत किया जाता है। सीडीओ, सीईओ के अधीन कार्य करने वाला कर्मचारी होता है। जैसा कि आप जानते हैं कि हमारे भारत में प्रत्येक राज्य को जिलों में बांटा गया है और जिलों को ग्रामीण और शहरी इलाकों में बांटा गया है इसलिए इनके विकास कार्यों के लिए प्रत्येक जिले और ग्रामीण और शहरी क्षेत्र के अंतर्गत विकास अधिकारियों को सरकार नियुक्त करती है और इन्हें ही सीडीओ (CDO) कहा जाता है।

अब आपको यह तो समझ आ गया कि सीडीओ क्या है लेकिन जो लोग सीडीओ बनना चाहते हैं उनके मन में यह सवाल आता है कि सीडीओ कैसे बने? तो चलिए हम आपको बताते हैं कि CDO बनने के लिए क्या करना होता है।   

CDO कैसे बने?

क्या आप CDO को अपने करियर ऑप्शन के रूप में सेलेक्ट करना चाहते हैं तो आप ये जरूर जानना चाहेंगे कि सीडीओ बनने की प्रक्रिया क्या होती है। CDO का मतलब होता है मुख्य विकास अधिकारी जो अपने स्तर के विकास का कार्यभार संभालता है, अगर आप इस पद को प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको लोक सेवा आयोग द्वारा संचालित किए जाने वाले परीक्षा के लिए आवेदन करना पड़ेगा।

यहां आपको ध्यान रखना है कि केवल वही उम्मीदवार इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं जो इसकी शैक्षिक और अन्य योग्यताओं का पालन करते हो, इसकी शैक्षिक योग्यता के बारे में हमने आगे जानकारी दी है।

सीडीओ बनने के लिए आपको मुख्य रूप से तीन चरणों से गुजरना होता है जो कुछ इस प्रकार है:-

  •  प्रारम्भिक परीक्षा (Preliminary Exam)
  • मुख्य परीक्षा (Main Exam)
  • साक्षात्कार (Interview)

यदि आप इन तीनों चरणों को पार कर लेते हैं तो आप CDO के लिए सेलेक्ट कर लिए जाएंगे। आइए जानते हैं कि सीडीओ बनने के लिए कौन-कौन सी योग्यताओं का निर्धारण किया गया है।

CDO बनने के लिए योग्यता?

किसी भी पद में नौकरी प्राप्त करने से पहले आपकी योग्यता ही देखी जाती है और CDO के अंतर्गत भी यही नियम लागू किया गया है कि इस पद में कार्यरत होने के लिए आपको इसकी शैक्षिक योग्यता पर खड़ा उतरना होगा।

मुख्य विकास अधिकारी बनने के लिए निर्धारित शैक्षिक योग्यता कुछ इस प्रकार निम्न है:-

  • यदि आप सीडीओ ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आपको किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई पूरी करनी होगी। 
  • आपको ग्रेजुएशन में कम से कम 50 प्रतिशत अंकों से उत्तीर्ण होना होगा।
  • यहाँ विशेष बात ये है कि यदि आप ग्रेजुएशन अंतिम वर्ष में अध्ययन कर रहे हैं तो भी आप सीडीओ एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

इस पोस्ट को प्राप्त करने के लिए उम्मीदवार को आयु सीमा का भी विशेष ध्यान रखना होगा,आयु सीमा के अंतर्गत आने वाले उम्मीदवार को ही इस पद के लिए नियुक्त किया जाएगा, आइये विस्तार से इसकी जानकारी आपको देते है।

CDO बनने के लिए आयु सीमा?

CDO बनने के लिए सभी वर्ग के उम्मीदवारों के लिए आयु सीमा निर्धारित की गई है जो अलग-अलग है। आइये एक- एक करके हर वर्ग के आयु सीमा की जानकारी आपको देते हैं।

  • यदि आप जनरल वर्ग के उम्मीदवार हैं तो आपके लिए आयु सीमा 21 वर्ष से 40 वर्ष है।
  • यदि आप OBC वर्ग के उम्मीदवार हैं तो आपके लिए आयु सीमा 21 वर्ष से 45 वर्ष है।
  • यदि आप SC और ST वर्ग के उम्मीदवार हैं तो आपके लिए आयु सीमा 21 वर्ष से 45 वर्ष है।
  • यदि आप विकलांग वर्ग के उम्मीदवार हैं तो आपके लिए आयु सीमा 21 वर्ष से 55 वर्ष है।

आइये अब हम आपको CDO के कार्यों की जानकारी देते है।

CDO के कार्य?

जैसा कि आपने जाना की CDO महत्वपूर्ण कार्य करता है तो यह सुनने के बाद आपके मन में जो सवाल आया होगा वह यही होगा कि आखिर कौन से कार्य सीडीओ को करने पड़ते हैं।

इसे विस्तार से समझाने के लिए हम एक-एक करके इसके सारे कार्यों पर नजर डालेंगे क्योंकि मुख्य विकास अधिकारी एक वरिष्ठ अधिकारी होता है इसलिए इसकी जिम्मेदारियां भी बहुत ज्यादा होती हैं तो चलिए जानते हैं कि सीडीओ के कौन-कौन से कार्य होते हैं।

  • CDO का कार्य अपने क्षेत्र के विकास की देख-रेख करना होता है, इसके लिए CDO विकास संबंधी योजनाओं को बनाने और लोगों तक पहुंचाने का कार्य करता है । 
  • क्षेत्र का विकास मुख्य विकास अधिकारी के हाथों में ही होता है इसलिए इसके प्रबंधन के लिए CDO ही उत्तरदाई होते हैं।
  • सरकार द्वारा जो भी योजनाएं लागू की जाती है उन्हें अपने खंड स्तर पर लागू करने का महत्वपूर्ण कार्य सीडीओ करता है।
  • जो भी परियोजनाएं लागू होती हैं उनका डाटाबेस भी सीडीओ ही तैयार करता है।
  • कृषि और उद्योग के क्षेत्र में नागरिकों को सहायता प्रदान करना भी मुख्य विकास अधिकारी का कार्य है।
  • इसके अलावा परिवहन सुविधा बिजली सुविधा जैसे आवश्यक तत्व भी जनता तक सही प्रकार से पहुंच रहे हैं या नहीं इसका ध्यान भी सीडीओ को रखना होता है।
  • अपने खंड स्तर पर लोगों के स्वास्थ्य की देखभाल और अस्पताल में मिलने वाली सुविधाओं का ध्यान भी सीडीओ रखता है तथा उन लोगों को आर्थिक सुविधाएं भी प्रदान करता है जो गरीब है और इसके लिए खेती आदि का प्रबंधन सीडीओ द्वारा किया जाता है।

इस तरह के महत्वपूर्ण कार्य CDO के द्वारा किए जाते हैं। अब बात आती है कि सीडीओ का वेतन कितना होता है? तो चलिए इसकी जानकारी पर भी एक नजर डालते है।

CDO का वेतन?

यदि आप सीडीओ बन जाते हैं तो आपको मासिक वेतन 45000 से 68000 रुपये प्राप्त होता है। सीडीओ बन जाने के बाद कई तरह के लाभ आपको मिलते हैं जैसे कि चीफ डेवलपमेंट ऑफिसर को कई प्रकार के भत्ते दिए जाते हैं, इसके अलावा सरकारी आवास भी उपलब्ध कराया जाता है।

वही समय-समय पर वेतन में भी वृद्धि की जाती है इसलिए यह पद काफी ज्यादा मान्यता प्राप्त पदों में से एक है और ऐसे कई लोग हैं जो सीडीओ का पद प्राप्त करना चाहते हैं।

आइए जानते हैं कि सीडीओ बनने के लिए आपको किन तीन चरणों से गुजरना होता है और इसके अंतर्गत किस तरह का पैटर्न आपको मिलता है

CDO का Exam Pattern 

सीडीओ बनने के लिए आपको लोक सेवा आयोग द्वारा संचालित परीक्षा के लिए आवेदन देना होता है। यहां आवेदन देने से पहले आपको यह पता होना चाहिए कि इसके अंतर्गत किस पैटर्न में एग्जाम लिए जाते हैं। 

जैसा कि हमने आपको बताया है कि यह परीक्षा तीन चरणों में पूरी होती है, आइए एक-एक करके इन्हें जानने का प्रयत्न करते हैं-

  • 1. प्रारम्भिक एग्जाम (Preliminary Exam)

यह परीक्षा प्रारंभिक रूप से ली जाती है और इसे पार करके ही आप दूसरे चरण में पहुंच सकते हैं। इस एग्जाम के अंतर्गत जीके, भारतीय इतिहास, विज्ञान, भारतीय संस्कृति, रीजनिंग, भूगोल से संबंधित सवाल पूछे जाते है। प्रारंभिक परीक्षा के अंतर्गत आपसे ऑब्जेक्टिव के रूप में क्वेश्चन पूछे जाते हैं यदि आप इस चरण को पार कर लेते हैं तो इसके बाद ही मुख्य परीक्षा में सम्मिलित होते हैं। 

  • 2. मुख्य परीक्षा (Main Exam)

सीडीओ के दूसरे चरण में मुख्य परीक्षा आती है। इस परीक्षा के अंतर्गत अंग्रेजी, हिंदी और भारत से संबंधित सामान्य ज्ञान आदि विषयों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। जब आप इस स्तर को पार कर लेते हैं तो अगले चरण में पहुंचते हैं।

  • 3. साक्षात्कार (Interview)

जो भी कैंडिडेट प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा को क्लियर करके इस चरण में पहुंचता है उसे साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। साक्षात्कार का अर्थ है इंटरव्यू जो पैनल द्वारा लिया जाता है।

इस चरण को यदि कोई कैंडिडेट क्लियर कर लेता है तो उसे सीडीओ का पद दे दिया जाता है, जहां उनकी योग्यताओं के अनुसार ही साक्षात्कार लिए जाते हैं।

तो इस तरह आप सारी जानकारी प्राप्त करके सीडीओ बनने का प्रयत्न कर सकते हैं, इसकी प्रक्रिया काफी आसान है। आपको केवल अच्छी तैयारी करके इसकी परीक्षाओं को क्लियर करना होता है।

CDO के अन्य फुल फॉर्म

सीडीओ के अन्य फुल फॉर्म कुछ इस प्रकार हैं:-

CDO full form in CompanyChief Data Officer 
CDO full form in IAS/CDO full form in DistrictChief Development Officer
CDO full form in RailwayCoaching Depot Officer
CDO full form in Banking/CDO full form in Insurance/Stock MarketCollateralized Debt Obligation
CDO full form in MedicalCare Delivery Organizations
CDO full form in Education DepartmentChief Development Officer
सीडीओ से जुड़े सवाल जवाब (FAQS)
सीडीओ का काम क्या है?

CDO का काम अपने क्षेत्र के विकास की देख-रेख करना होता है, जो परियोजनाएं लागू होती हैं उनका डाटाबेस तैयार करना, कृषि और उद्योग के क्षेत्र में नागरिकों को सहायता प्रदान करना और इसके अलावा भी एक मुख्य विकास अधिकारी के बहुत से कार्य होते हैं।

सीडीओ की सैलरी कितनी होती है?

सीडीओ की सैलरी 45000 से 68000 के अंतगर्त होती है।

CDO का मतलब क्या होता है?

CDO का मतलब Chief Development Officer अर्थात मुख्य विकास अधिकारी होता है।

निष्कर्ष – What is CDO officer in Hindi

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने आपको सीडीओ के बारे में जानकारी साझा की है सीडीओ क्या है, CDO ka full form क्या होता है (CDO full form in Hindi), सीडीओ कैसे बनें, सीडीओ के लिए योग्यता, सीडीओ का वेतन, कार्य और आयु सीमा क्या है और भी कई जरुरी चीज़ों के बारे में बताया है।

उम्मीद करते हैं पोस्ट से आपको जरुर हेल्प मिली होगी, अगर आपका कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं हम जल्द से जल्द आपके कमेंट का रिप्लाई करने की कोशिश करेंगे। इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करके बाकी लोगो को भी CDO की सही जानकारी दें।

अन्य पढ़ें:-

Leave a Comment

Share via
Copy link