BPM Full Form in Hindi | BPM Full Form in Medical Terms

दोस्तों, एक अच्छी सेहत सबके लिए बहुत जरुरी है. यहाँ हम सेहत के बारे में क्यों कह रहे हैं क्योंकि BPM full form in Hindi इससे ही जुड़ा शब्द है. तो चलिए फिर Full form of BPM क्या है डिटेल में जानते है.

आप सबको पता ही है दिल धड़कता है तो इन्सान जिंदा रहता है. लेकिन सिर्फ दिल धड़कना ही काफी नहीं है दिल का नार्मल तरीके से धड़कना बहुत जरुरी है. इसके बारे में डिटेल में आगे पढ़े.

BPM Full Form in Hindi (BPM फुल फॉर्म क्या है)?

BPM Full form in Hindi

BPM full form in English – Beats per Minute

BPM full form in Hindi – बीट्स पर मिनट

BPM ka full form “Beats per Minute” होता है, जिसे हिंदी में बीट्स पर मिनट भी कहते हैं. जिसका मतलब धड़कन की संख्या प्रति सेकंड भी होता है.

BPM क्या होता है?

1 मिनट में हमारा दिल जितनी बार धड़कता है उस धड़कन को हार्ट रेट या फिर BPM कहते है. इससे दिल की धड़कन को मापा जाता है. 

आसान भाषा में बतायें तो, मान लीजिये एक मिनट में हमारे दिल की धड़कन 80 बार धड़कती है तो इसे 80 BPM कहेंगे या फिर आप इसे 80 हार्ट रेट भी कह सकते हैं.

Normal हार्ट रेट कितना होना चाहिये (What is Normal BPM)?

Normal हार्ट रेट (BPM) बच्चो और बड़ो में अलग होता है. 6 से 15 साल के बच्चे की हार्ट रेट 70-100 के बीच होनी चाहिए. जबके 18 साल या फिर उससे ऊपर सभी उम्र के लोगो का हार्ट रेट 60-100 के बीच होना चाहिये. अगर आपका हार्ट बीट इतना है तो ये बिलकुल normal है.

हार्ट रेट पल्स यानी के नब्ज़ से जुड़ा होता है. नब्ज़ से दिल की धड़कन का पता लगाया जा सकता है.

अगर आपकी नब्ज़ सही चल रही है तो इसे नार्मल पल्स कहेंगे. लेकिन अगर आपकी ज़रा भी तबियत ख़राब होती है तो आपके हार्ट रेट में बदलाब होना शुरू हो जाता हैं. जिसे नब्ज़ में भी बदलाब होता है इसे इर्रेगुलर पल्स कहते हैं.

आपका दिल एक मिनट में जितनी बार धड़कता है, उतनी ही बार आपकी नब्ज़ (Pulse) भी फड़कती है.

हार्ट बीट रेट (BPM) की जांच कब करनी चाहिये?

जब आप किसी प्रकार की गतिविधि कर रहें होते हैं तब आपका हार्ट बीट रेट बढ़ जाता है. सही BPM की जांच करने के लिए आप जब किसी प्रकार की गतिविधि में शामिल ना हो, कहने का मतलब है जब आप आराम कर रहें हो तब आपको अपना हार्ट रेट चेक करना चाहिए.

व्यायाम, खेल-कूद, भाग दोड़ करते टाइम हमारी धड़कन तेज़ चलती है, इसलिए आपको उस समय BPM चेक नहीं करना चाहिये.

पल्स रेट कैसे चेक करें?

आप घर पर ही अपने पल्स रेट के अनुसार हार्ट बीट रेट का भी पता लगा सकते हैं. इसके लिए आपको जो करना है वह हमने नीचे बताया है:-

Image Credit – cosinuss.com
  • अपनी पहली उंगली (Index Finger) और मध्यम उंगली (Middle Finger) को अपनी कलाई पर अंगूठे के आधार पर रखें. 
  • आप ऐसी घड़ी अपने पास रखें जो सेकंड गिनती हो. आप इसके लिए अपने फ़ोन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं आजकल स्मार्ट फोन में ये फैसिलिटी उपलब्ध होती है.
  • 30 सेकंड में नब्ज़ के बीट को गिने.
  • आपने जो बीट गिनी, उसे दोगुना कर दें. यही संख्या आपका हार्ट रेट (BPM) होगी.

दिल को स्वस्थ रखने के उपाय

  • स्वस्थ आहार और फल का सेवन करें.
  • रोजाना व्यायाम या फिर कोई भी Physical Activity करें.
  • किसी भी तरह की टेंशन ना लें.
  • वजन Normal रखें. ज्यादा वजन से दिल से जुड़ी समस्या पैदा होती हैं.
  • शराब, सिगरेट का सेवन ना करें इससे दिल पर बुरा प्रभाव पड़ता है.

BPM के अन्य फुल फॉर्म

BPM full form in Computer/Business/Banking Business process management 
What is BPM in Smartwatch Beats Per Minute
BPM full form in Post office Branch Post Master
BPM full form in Block Block Program Manager
निष्कर्ष

दोस्तों, इस पोस्ट में हमने आपको BPM full form in Hindi, BPM full form in Heart rate, बी पी एम का फुल फॉर्म क्या है, BPM full form in medical terms क्या होता है इसकी पूरी जानकारी शेयर की है.

पोस्ट से कुछ मदद मिली हो तो सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करें.

अन्य पढ़ें

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap